DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुशील ने आसानी से जीता सोना, बाकी ने किया निराश

सुशील ने आसानी से जीता सोना, बाकी ने किया निराश

विश्व चैंपियन और बीजिंग ओलंपिक के कांस्य पदक विजेता सुशील कुमार ने अपनी बेजोड़ फार्म का उत्कष्ट नमूना पेश करते हुए राष्ट्रमंडल खेलों की कुश्ती प्रतियोगिता में रविवार को आसानी से सोने का तमगा जीता जबकि दो अन्य पहलवान अंतिम पड़ाव पर मात खाकर रजत पदक ही हासिल कर पाए।

भारत के तीन पहलवान फाइनल में पहुंचे थे जिनमें से सुशील ने अपेक्षानुरूप प्रदर्शन करते हुए स्वर्ण पदक जीता। अनुज कुमार (84 किग्रा) और जोगिंदर कुमार (120 किग्रा) को रजत पदक से संतोष करना पड़ा जबकि रेपेचेज के जरिए आगे बढ़े अनिल कुमार (55 किग्रा) ने भी कांस्य पदक हासिल किया। इस तरह से भारत ने कुश्ती ने कुल दस स्वर्ण, पांच रजत और तीन कांस्य पदक सहित 18 पदक जीते। कुश्ती प्रतियोगिता का आज समापन भी हो गया।

राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित सुशील की इस शानदार जीत के बाद वहां मौजूद संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस सांसद राहुल गांधी, दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित, हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा और आयोजन समिति के अध्यक्ष सुरेश कलमाड़ी ने विशेष रूप से बधाई दी।

भारत के इस स्टार पहलवान ने फाइनल के एकतरफा मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका को हेनरिक बर्नेस को चित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। दक्षिण अफ्रीकी पहलवान शुरू से ही बचने की कोशिश कर रहा था और जब उसने बाहर भागने की कोशिश की तो सुशील ने चीते की तरह झपटकर उसे दबोच दिया। उन्होंने बर्नेस को उठने ही नहीं दिया जिसके बाद रेफरी ने सुशील को विजेता घोषित कर दिया। इस तरह से सुशील ने शुरू से लेकर आखिर तक बिना अंक गंवाए सोने का तमगा हासिल किया।

उन्होंने सुबह से ही अपनी बेहतरीन फार्म का नजारा पेश कर दिया था। मास्को में हाल में विश्व चैंपियनशिप का स्वर्ण पदक जीतने वाले सुशील ने आस्ट्रेलियाई मेहराद तारश को 5-0 से हराकर दिन की जोरदार शुरुआत की और फिर पाकिस्तान के मोहम्मद सलमान को 3-0 से शिकस्त दी। सेमीफाइनल में तो सुशील ने जाम्बिया के फमारा जारजोउ को केवल नौ सेकेंड में चित करके उन्हें कुश्ती का कड़ा सबक सिखाया।

अनुज का पाकिस्तान के मोहम्मद इनाम से मुकाबला काफी करीबी रहा। वह पहले राउंड में आगे चल रहे थे लेकिन दूसरे राउंड में पाकिस्तानी पहलवान उन पर हावी रहा। इनाम को तीसरे राउंड में क्लिन्च मिला जिस पर वह एक अंक हासिल करके पाकिस्तान को कुश्ती में आज दूसरा स्वर्ण पदक दिलाने में सफल रहे। इससे पहले 55 किग्रा के क्वार्टर फाइनल में अनिल को हराने वाले अजहर हुसैन ने नाईजीरियाई इबिकेवेनिमो वेल्सन को हराकर पाकिस्तान के लिए इन खेलों का पहला स्वर्ण पदक जीता था।

अनुज ने सुबह सियरा लियोन के अब्दुल कालोको को 4-0 से हराने के बाद स्काटलैंड के सीन कीगो को 3-0 से मात दी और फिर सेमीफाइनल में बेहद करीबी मुकाबले में नाईजीरिया के एंड्रयू एडिबो डिक को हराया। अनुज अंतिम चार के इस मुकाबले के दूसरे राउंड में पीछे चल रहे थे लेकिन उन्होंने आखिरी 20 सेकेंड में अंक बनाकर फाइनल में जगह बनाई।

राजीव तोमर के डोपिंग में पकड़े जाने के कारण अंतिम समय में भारतीय टीम में जगह बनाने वाले जोगिंदर फाइनल में भारतीय मूल के कनाडाई अजर्न भुल्लर से आसानी से हार गए। भुल्लर ने जोगिंदर को चित करने में देर नहीं लगाई। इससे पहले जोगिंदर ने इंग्लैंड के मार्क कोकर और आस्ट्रेलिया के डेनिस राबटर्स को 3-0 के समान अंतर से हराकर खिताबी मुकाबले में प्रवेश किया था।

अनिल ने भारतीयों में से दिन की पहली कुश्ती में दक्षिण अफीका के कार्लो फैजल वान विक को 5-0 से हराकर अच्छी शुरुआत की थी लेकिन क्वार्टर फाइनल में वह हुसैन से हार गए। इसके बाद रेपेचेज में वह कनाडा के प्रामिस मवेंगा और श्रीलंका के वाईएमएस मेनल कुमारा को हराने में सफल रहे। कांस्य पदक के मैच में उन्होंने वेल्स के क्रेग पिलिंग को 7-4 से हराकर कांसे का तमगा हासिल किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सुशील ने आसानी से जीता सोना, बाकी ने किया निराश