DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अधिकांश स्टेडियम दर्शकों के इंतजार में

बत्तीस करोड़ की टिकट बिक गई, लेकिन स्टेडियम अब तक किसी भी इवेंट में भरे हुए नजर नहीं आए। अलबत्ता इवेंट देखने के लिए दर्शकों को काउंटर पर टिकट भी नहीं मिल रहे हैं। अब इस समस्या को दूर करने के लिए ओसी ने दिल्ली सरकार के माध्यम से फ्री पास बांटना शुरु कर दिया है। यह पास स्कूल व एनजीओ के जरिये दिये जाएंगे। ताकि स्टेडियम के खालीपन को दूर किया जा सके। हालांकि तीरंदाजी और नेट बॉल को लेकर लोगों की मायूसी ओसी को भी नजर आ रही है और वह भी इस इवेंट में टिकट न बिकने की बात कह रहे हैं। जबकि अन्य में दर्शक क्षमता के अनुरूप टिकट बिक्री का दावा किया जा रहा है।


गौरतलब है कि इवेंट के दौरान अधिकांश स्टेडियम में दर्शक नदारद दिखे। बाक्िसंग, कुश्ती, टेनिस, साइक्िलंग व हॉकी मैच में दर्शकों की संख्या स्टेडियम में दिखी।
जबकि वेटलिफ्टिंग, रेस, लॉन बॉल, नेट बॉल, तीरंदाजी, जिम्नास्ट व तैराकी में टिकट न मिलने के बाद भी इवेंट के समय स्टेडियम खाली ही नजर आ रहे हैं।
ओसी अध्यक्ष सुरेश कलमाणी के अनुसार लगभग नौ लाख टिकट बिके हैं। उन्होंने स्वीकारा की नेटबॉल और तीरंदाजी की टिकटें अभी शेष हैं। जबकि हॉकी खासतौर पर भारत-पाक मैच की टिकट कई दिन पहले ही समाप्त हो गई हैं और अन्य हॉकी मैच की टिकटें भी बिक चुकी हैं। उन्होंने कहा कि अन्य मैच में भी दर्शक क्षमता के अनुरूप टिकट बेची जा चुकी हैं। लेकिन स्टेडियम आखिर खाली क्यों नजर आ रहे हैं। इस पर उन्होंने कहा कि फ्री पास भी दिये गए हैं। जिसे अब दिल्ली सरकार के जरिये स्कूलों व एनजीओ के माध्यम से भी वितरीत किया जाएगा। ताकि किसी भी स्टेडियम में खालीपन न दिखे।
इस मामले में ओसी के एक अन्य पदाधिकारी ने कहा कि इसके पीछे टिकट वितरण प्रबंधन जिम्मेवार है। जिसने गलत तरीके से टिकट अथवा पास वितरण कर दिया है। इसी कारण स्टेडियम के टिकट बिकने के बाद भी खाली नजर आ रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अधिकांश स्टेडियम दर्शकों के इंतजार में