अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

करोड़ों की संपत्ति का पता चला, आरोपी फरार

निलंबित अभियंता पारस कुमार के रांची, देवघर और पटना स्थित ठिकानों में निगरानी ब्यूरो की टीम ने एक साथ छापामारी की। कुमार के विरुद्ध निगरानी के विशेष अदालत से सर्च वारंट जारी था। इसी के तहत यह कार्रवाई की गई। पारस कुमार के रांची के मोरहाबादी स्थित नारायण निवास की तलाशी ली गई। वहीं देवघर के विलियम्स टाउन मुहल्ले के घर की तलाशी ली गई और पटना स्थितआवास में भी तलाशी अभियान चलाया गया।

रांची में इस अभियान का नेतृत्व सीनियर डीएसपी मधुसूदन बारी, इंस्पेक्टर श्याम लाल चंपिया, केके चौधरी और अरुण कुमार कर रहे थे। साथ में बरियातू थाना प्रभारी कपिलदेव सिंह थे। वहीं देवघर में छापामारी का नेतृत्व डीएसपी शंकर उरांव, इंस्पेक्टर जॉन बागे, लक्ष्मी नारायण गुप्ता, अतुल ओझा सहित कई अन्य अधिकारी थे।

पटना में छापामारी डीएसपी झरिया कुजूर ने किया। इस छापामारी में करीब पांच करोड़ रुपए के चल-अचल संपत्ति का पता चला है। रांची में नारायण निवास का मूल्य निगरानी के अधिकारियों ने करीब सवा दो करोड़ रुपया आंका है। वहीं, 15 लाख रुपए के फर्नीचर और अन्य सामान मिले हैं। देवघर में आवास, 12 दुकान और जमीन मिलाकर दो करोड़ रुपया और वहीं पटना में भी एक करोड़ के आसपास की अचल संपत्ति आंका गया है।

निगरानी की यह कार्रवाई उनके विरुद्ध दर्ज एफआइआर के आलोक में की गई है। अभियंता के विरुद्ध निगरानी थाना कांड संख्या 40/2010 के तहत 31 अगस्त को आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का मुकदमा दर्ज है। निगरानी की टीम जब मोरहाबादी पहुंची तो घर के सभी सदस्य भाग खड़े हुए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:करोड़ों की संपत्ति का पता चला, आरोपी फरार