अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इमराना की सास की बुखार से मौत

चरथावल के प्रमुख इमराना प्रकरण में जेल काट रहे उसके ससुर अली मौहम्मद की पत्नी जरीफ की बुखार से मौत हो गई। डीएम के आदेश पर अली मौहम्मद को पुलिस अभिरक्षा के बीच चार घंटे के पेरोल पर चरथावल अपनी पत्नी का दीदार करने एवं कब्र पर मिट्टी डालने के लिए भेजा गया।


छह वर्ष पूर्व चरथावल के मौहल्ला ढोलूखाल में रहने वाले 50 वर्षीय वृद्ध पर उसके पुत्र नूर इलाही की पत्नी इमराना ने बलात्कार का आरोप लगाया था। इमराना की ओर से उसके ससुर अली मौहम्मद के खिलाफ बलात्कार का मुकदमा लिखा गया और वह तभी से जेल काट रहा है। यह इमराना प्रकरण इतना प्रख्यात हुआ कि देश-विदेश में महीनों तक इसकी चर्चा रही और अनेक धार्मिक एवं राजनीतिक संगठनों ने यहां पहुंचकर इमराना को सांत्वना देकर उसकी मदद की। इस प्रकरण में अनेक मोड़ आए। यहां तक कि इमराना ने अपनी जेठानी तक के संबंधों का आरोप भी ससुर पर मढ़ा था। इस प्रकरण का अंतिम निर्णय वर्ष 2008 में हो गया था, जिसमें अली मौहम्मद को उम्र कैद हुई। तभी से वह जेल काट रहा है। उसे ग्रामीणों ने पत्नी की मैय्यत दिखाने के लिए डीएमसे गुहार की। डीएम ने चार घंटे के पेरोल पर पुलिस अभिरक्षा में उसे चरथावल भेजा। पूरा परिवार उसे देखकर गमी के मौके पर रो-रोकर बिलख पड़ा। उधर, इमराना का पति नूर इलाही जब मां की सूरत दखेने पहुंचा, तो परिजनों ने उसे घर से भगा दिया। ग्रामीणों को अंदेशा था कि इमराना भी सास की मृत्यु पर आ सकती है। अली मौहम्मद को देखने के लिए हजारों की भीड़ जमा हो गई। सभी मौहल्ले के लोग उसके गले मिलकर फूट-फूटकर र7ोए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इमराना की सास की बुखार से मौत