DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मैं देश के लिए स्वर्ण जीतूंगी : सानिया

मैं देश के लिए स्वर्ण जीतूंगी : सानिया

राष्ट्रमंडल खेलों की टेनिस प्रतियोगिता के महिला एकल फाइनल में पहुंच चुकी भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा ने वादा किया है कि वह देश के लिए स्वर्ण पदक ज़रूर जीतेंगी। दूसरी वरीयता प्राप्त सानिया ने शुक्रवार को खेले गए सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया की ओलीविया रोगोवस्का के खिलाफ पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए 1-6, 6-4, 6-4 से जीत हासिल की और फाइनल में स्थान बना लिया।
 
सानिया ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि पिछड़ने के बाद जिस तरह मैंने संघर्ष करते हुए वापसी की और फिर जीत हासिल की उससे मैं बहुत खुश हूं। मेरी प्रतिद्वंद्वी काफी अच्छा खेल रही थी और उसे हराने के लिए मुझे अपनी तरफ से विशेष प्रयास करना पड़ा।
 
उन्होंने कहा कि शनिवार को मेरे लिए अपने करियर का काफी बड़ा दिन है। हालांकि हर मैच हमारे लिए बड़ा दिन होता है लेकिन देश के लिए स्वर्ण पदक मुकाबले में खेलना और वह भी अपने दर्शकों के सामने खेलना निश्चित रूप से एक बड़ा अवसर होगा। मैं पूरी कोशिश करूंगी कि मैं देश के लिए स्वर्ण पदक जीत सकूं।

मैच में 1-6, 1-3 से पिछड़ने के बारे में पूछने पर सानिया ने कहा कि मुझे प्रतिद्वंद्वी को कहीं तो रोकना था। इतना पिछड़ने के बाद मुझे अतिरिक्त विशेष प्रयास करने की ज़रूरत थी जो मैंने की। ऐसे हालात में अनुभव की काफी महत्वपूर्ण भूमिका होती है। मैं इतनी परिपक्व तो हो ही चुकी हूं कि ऐसी स्थिति से निपट सकूं।
 
निर्णायक सेट में 5-2 की बढ़त गंवाकर फिर स्कोर 4-5 हो जाने और दसवें गेम में मैच के लिए सर्विस करते समय दबाव के बारे में पूछने पर सानिया ने कहा कि शुक्र है मैंने इस गेम में अच्छी सर्विस की। मैं पूरे मैच में अच्छी सर्विस नहीं कर पाई थी लेकिन मेरे लिए अच्छा रहा कि इस महत्वपूर्ण गेम में मेरी सर्विस अच्छी रही और मैं मैच जीत गई।

सानिया ने स्वीकार किया कि घरेलू दर्शकों के सामने खेलना काफी मुश्किल होता है लेकिन उन्होंने साथ ही कहा कि इसका अपना एक अलग फायदा है। उन्होंने कहा कि मैं जब पिछड़ रही थी उस समय भी भारतीय समर्थक मेरा हौसला बढ़ा रहे थे। उन्हें पूरी उम्मीद थी कि मैं जीत जाऊंगी। मुजे खुशी है कि मैंने उन्हें निराश नहीं किया।
 
सानिया ने दिल्ली के दर्शकों की भी भरपूर सराहना करते हुए कहा कि यहां के दर्शक वाकई शानदार हैं और उनका समर्थन मिलना एक अलग सुखद अहसास है। ऐसा एहसास मुझे देश के किसी अन्य शहर में नहीं हुआ। वैसे भी यह कॉमनवेल्थ गेम्स चल रहे हैं और लोगों की देश भावना पूरे शबाब पर है।

भारतीय टेनिस स्टार ने इस बात पर खुशी जताई कि वह और सोमदेव देववर्मन फाइनल में पहुंच गए हैं और उन्होंने देश के लिए दो पदक पक्के कर लिए हैं। उन्होंने कहा कि यह काफी रोमांचक है कि हम दोनों फाइनल में पहुंच चुके हैं। सोमदेव तो वैसे ही काफी अच्छा खेल रहे है। वह टॉप सीड खिलाड़ी हैं और निश्चित रूप से वह देश के लिए स्वर्ण जीतेंगे।
 
अपनी ऑस्ट्रेलियाई प्रतिद्वंद्वी ने लिए सानिया ने कहा कि वह शुरू में अच्छा खेली लेकिन खेल के ऐसे स्तर को लगातार बनाए रखना उसके लिए मुश्किल रहा। उन्होंने कहा कि मैं पहले कभी इस खिलाड़ी के खिलाफ नहीं खेली थी इसलिए मेरी शुरूआत ठीक नहीं रही। सानिया ने वादा किया कि शनिवार को जब वे फाइनल खेलने उतरेंगी तो वे गलतियां नहीं दोहराएंगी जो उन्होंने शुक्रवार के मैच में की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मैं देश के लिए स्वर्ण जीतूंगी : सानिया