DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पंचायत चुनाव: प्रथम चरण में कानपुर में 1,219 महिला प्रत्याशी

कानपुर जिला पंचायत चुनाव के प्रथम चरण (11 अक्टूबर) के लिये जिला एवं पुलिस प्रशासन ने व्यापक तैयारियां की है। पहले चरण में जिले के तीन ब्लाकों बिल्हौर, शिवराजपुर और ककवन में मतदान होगा। पहले चरण के इन चुनावों में सभी पदों के लिये 1219 महिला प्रत्याशी भी अपनी किस्मत आजमा रही है।

जिलाधिकारी मुकेश मेश्राम ने बताया कि पहले चरण में नाम वापसी की तिथि समाप्त हो जाने के बाद जो तस्वीर उभर कर सामने आयी है उसमें बिल्हौर ब्लाक में 820 प्रत्याशी ग्राम पंचायत सदस्य के लिये, 478 प्रत्याशी ग्राम प्रधान पद के लिये, 314 प्रत्याशी सदस्य क्षेत्र पंचायत के लिये तथा 34 प्रत्याशी जिला पंचायत सदस्य के लिये चुनाव मैदान में है।

इसी प्रकार शिवराजपुर में 437 प्रत्याशी ग्राम पंचायत सदस्य के लिये, 452 प्रत्याशी ग्राम प्रधान पद के लिये, 236 प्रत्याशी सदस्य क्षेत्र पंचायत के लिये तथा 19 प्रत्याशी जिला पंचायत सदस्य के लिये मैदान में है। पहले चरण के तीसरे ब्लाक ककवन में 235 प्रत्याशी ग्राम पंचायत सदस्य के लिये, 206 प्रत्याशी ग्राम प्रधान के लिये, 140 प्रत्याशी सदस्य क्षेत्र पंचायत के लिये तथा 28 प्रत्याशी जिला पंचायत सदस्य के लिये चुनाव मैदान में है।

उन्होंने बताया कि पहले चरण में बिल्हौर में 601 महिलायें, शिवराजपुर में 392 और ककवन में 226 महिलायें पंचायत चुनाव मैदान में है। जिलाधिकारी ने बताया कि तीनों ब्लाकों में, ककवन में 37 मतदान केंद्रों में से 33 अतिसंवेदनशील तथा 4 संवेनशील मतदान केन्द्र हैं। शिवराजपुर के 70 मतदान केन्द्रों में से 47 अतिसंवेदनशील, 21 संवेदनशील तथा 2 सामान्य मतदान केन्द्र हैं। बिल्हौर के 98 मतदान केन्द्रों में से 30 अतिसंवेदनशील, 23 संवेदनशील तथा 45 सामान्य मतदान केन्द्र हैं।

मेश्राम ने बताया कि पहले चरण के इन तीनों ब्लाकों में सुरक्षा के तगड़े इंतजाम किये गये हैं तथा पुलिस, होमगार्ड और अन्य सुरक्षा बलों के अतिरिक्त पीएसी की दो कंपनिया भी तैनात की गयी है। इन तीनों ब्लाकों में सुरक्षा की दृष्टि से 19 हजार 721 व्यक्तियों का चालान किया गया है तथा 5640 लोगों को नोटिस दी गयी है। इसके अतिरिक्त इन ब्लाकों के 47 लोगों के खिलाफ गुंडा एक्ट, दो लोगों के खिलाफ रासुका (एनएसए) तथा दो लोगों के खिलाफ गैंगस्टर की कार्रवाई की गयी है।

जिस दिन 11 अक्टूबर को इन तीन ब्लाकों में मतदान होगा उस दिन वहां सार्वजनिक अवकाश रहेंगा तथा गांव में किसी भी बाहरी व्यक्ति या किसी के घर आयें मेहमान को उस गांव में रूकने नही दिया जायेगा। प्रत्येक गांव की नाकाबंदी की जा रही है तथा निकलने के रास्ते पर बैरियर लगाये जा रहे हैं। गांवों में चुनाव के मौके पर शराब की बिक्री को रोकने के लिए भी जिला प्रशासन ने तगड़े इंतजाम किये है तथा शराब की दुकानों और अवैध भटि्टयों पर कड़ी नजर रखी जा रही है। इस मौके पर पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) लाल बहादुर तथा सीडीओ नरेन्द्र पांडे भी मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पंचायत चुनाव: प्रथम चरण में कानपुर में 1,219 महिला प्रत्याशी