अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईएसआई के कुछ लोग आतंकवाद समर्थक: पेंटागन

आईएसआई के कुछ लोग आतंकवाद समर्थक: पेंटागन

पेंटागन ने स्वीकार किया है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के कुछ लोग अफगानिस्तान-पाकिस्तान के सीमावर्ती क्षेत्र में आतंकवादी नेटवर्क को समर्थन दे रहे हैं।

संभवत: ऐसा पहली बार हुआ है जब पेंटागन ने इस बात को स्वीकार किया है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के आतंकवादी नेटवर्कों के साथ संपर्क हैं और यह अमेरिका के लिए चिंता की बात है। पेंटागन पर अक्सर आरोप लगते रहते हैं कि वह पाकिस्तानी सेना और आईएसआई को बचाने की कोशिश करता है।

पेंटागन के प्रवक्ता कर्नल डेविड लापान ने संवाददाताओं से कहा कि आईएसआई के कुछ सदस्य संभवत: आतंकवादी संगठनों के साथ उस तरह से संपर्क बनाकर काम कर रहे हैं, जो वैसा नहीं है, जैसा सरकार और सेना कर रही है।

प्रवक्ता से द वॉल स्ट्रीट जरनल में छपी खबर के बारे में प्रतिक्रिया पूछी गई थी। इस अखबार की खबर में कहा गया था कि आईएसआई तालिबान पर अफगानिस्तान में नाटो और अमेरिकी सुरक्षा बलों पर हमला करने के लिए कह रही है और उसकी सहायता भी कर रही है।

उन्होंने कहा कि आईएसआई ने आतंकवाद से लड़ने में अहम योगदान दिया है। कुछ लोगों का कहना है कि उन्होंने इतने आतंकवादियों को मारा है, जितने किसी अन्य संगठन ने नहीं मारे हैं, लेकिन हमें आईएसआई के रणनीतिक केंद्र को लेकर कुछ चिंताएं हैं।

लापान ने कहा कि आईएसआई प्रमुख इन चिंताओं के बारे में जानते हैं। इस बीच व्हाइट हाउस ने स्पष्ट कर दिया है कि पाकिस्तान को चरमपंथियों के साथ संघर्ष में और प्रयास करने की जरूरत है।

व्हाइट हाउस के प्रवक्ता रॉबर्ट गिब्स ने कहा कि पाकिस्तान को यह समझना चाहिए कि अफ-पाक सीमा पर आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई न करने के लिए कोई बहाना नहीं चलेगा।

गिब्स ने कहा कि जैसी दो तरह की स्थिति दिख रही है, वह स्वीकार्य नहीं है, जैसी हमने पिछले कुछ दिनों की खबरों में देखी है। व्हाइट हाउस की ओर से पिछले दिनों कांग्रेस को भेजी गई रिपोर्ट में पाकिस्तान की आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई में निष्क्रियता की आलोचना की गई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईएसआई के कुछ लोग आतंकवाद समर्थक: पेंटागन