DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भूखे पेट मर गया जुगेश्वर भुईयां

चैनपुर थाना अंतर्गत दोकरा गांव के सेमरहट टोला निवासी रमण भुईयां ने अपने पिता जुगेश्वर भुईयां की मौत के लिए बीडीओ एसएन उपाध्याय, डीलर नागेन्द्र चौबे, पंचायत पर्यवेक्षक अजय तिवारी और ग्राम सेवक मनू तिवारी को जिम्मेवार ठहराते हुए मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी पलामू की अदालत में शिकायतवाद दायर कराया है।

उसने आरोप लगाया है कि बीते 24 सितंबर 2010 को उसके पिता जुगेश्वर भुईयां की मौत भूख के कारण हो गयी। उसका कहना है कि उसके पिता को कोई बीमारी नहीं थी। वे चकवड़ साग खाकर जीवन और मौत से संघर्ष कर रहे थे। उसके पिता ने मृत्यु के पूर्व इन आरोपी पदाधिकारियों से अनाज, लाल कार्ड, जॉब कार्ड और इंदिरा आवास की मांग की थी, लेकिन ये सभी टालमटोल करते रहे। मेरे पिता को कोई सरकारी योजना का लाभ नहीं मिला था।

रमण भुईयां का कहना है कि इन आरोपी पदाधिकारियों ने उच्चतम न्यायालय के आदेश की भी अवहेलना की है। सुखाड़ घोषित होने के बावजूद असहाय गरीब को अनाज नहीं दिया, जिस वजह उसके पिता की भूख से मौत हो गयी। रमण की ओर से वरीय अधिवक्ता एसएसपी देव एवं नंदलाल सिंह ने शिकायत वाद दायर किया। सीजेएम ने मामले को भादवि की धारा 166, 304 एवं 120 बी में पंजीकृत कर रमण की शपथ गवाही के लिए अगली तिथि नौ अक्तूबर निर्धारित की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भूखे पेट मर गया जुगेश्वर भुईयां