DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हाकी में आस्ट्रेलिया से हारा भारत

हाकी में आस्ट्रेलिया से हारा भारत

विश्व चैम्पियन आस्ट्रेलिया ने सात महीने पुरानी विश्व कप की कहानी राष्ट्रमंडल खेलों में भी दोहराते हुए मेजबान भारत को गुरुवार को पूल ए के मुकाबले में 5-2 से हरा दिया।

फरवरी मार्च में नेशनल स्टेडियम पर ही खेले गए विश्व कप के दूसरे मैच में आस्ट्रेलिया ने भारत को 5-2 से हराया था। इस मैच में फर्क इतना भर था कि पहला हाफ भारत के नाम रहा और दूसरा आस्ट्रेलिया के। राष्ट्रमंडल खेलों में अभी तक हाकी के तीनों स्वर्ण जीत चुके आस्ट्रेलिया ने दूसरे हाफ में चैम्पियन की तरह खेल दिखाते हुए भारत को वापसी का एक भी मौका नहीं दिया।

आस्ट्रेलिया के लिए डेस एबोट (दूसरा), ट्रेंट मिटोन (12वां), एडी ओकेंडेन (48वां मिनट), लियाम डे यंग (55वां), ग्लेन टर्नर (58वां) ने गोल किए जबकि भारत के लिए धरमवीर सिंह (12वां मिनट) और संदीप सिंह (70वां) ने गोल दागे।

पहले हाफ में शुरुआती दस मिनट का खेल आस्ट्रेलिया के नाम रहा लेकिन बाद में भारतीयों ने बाद में अप्रत्याशित ढंग से जबर्दस्त आक्रामक खेल दिखाया। आस्ट्रेलिया ने अपनी ख्याति के अनुरूप शुरुआत करते हुए दूसरे ही मिनट में बढ़त बना ली। भारत के कमजोर डिफेंस का फायदा उठाते हुए एबोट ने आसान गोल दागा। इसके चार मिनट बाद भारतीय डिफेंस को फिर बिखरा हुआ पाकर मिटोन ने गेंद को गोल के भीतर डालने की औपचारिकता पूरी की।

दो गोल गंवाने के बाद भारतीय टीम जागी और अप्रत्याशित तौर पर इसके बाद लगभग आधे घंटे का खेल भारत के नाम रहा। भारतीय फारवर्ड पंक्ति ने कुछ शानदार मूव बनाए। बारहवें मिनट में इसका फायदा मिला जब धनंजय महाडिक ने तुषार खांडेकर को खूबसूरत पास दिया जिसने धरमवीर सिंह को गेंद सौंपी। वह आस्ट्रेलियाई हाफ में अकेला उसे लेकर दौड़ा और शानदार गोल दाग दिया।

ध्यानचंद स्टेडियम पर भारी तादाद में जमा दर्शकों ने इसका खड़े होकर अभिवादन किया। यह गोल भारत के लिए संजीवनी साबित हुआ और इसके बाद वह हुआ जिसका भारतीय हाकीप्रेमियों ने अरसे बाद देखा होगा। जोस ब्रासा की टीम ने रिक चार्ल्सवर्थ के धुरंधरों को लगभग आधे घंटे तक गेंद पाने के लिए तरसा दिया। गेंद पर नियंत्रण, पासिंग और गोल पर हमलों के मामले में भारतीय बाजी मार ले गए। आस्ट्रेलिया गोलकीपर नाथन बर्जस ने यदि मुस्तैदी नहीं दिखाई होती तो स्कोर भारत के पक्ष में होता।

भारत की कमजोर कड़ी हालांकि फिर पेनाल्टी कार्नर रहा। पहले हाफ में भारत को पांच पेनाल्टी कार्नर मिले लेकिन महाडिक और संदीप सिंह दोनों इन्हें तब्दील करने में नाकाम रहे। भारत को 17वें मिनट में बराबरी का सबसे आसान मौका मिला लेकिन गोल के ठीक सामने खड़े तुषार गेंद को पकड़ने में चूक गए।

दूसरे हाफ की शुरुआत में आस्ट्रेलिया ने आक्रमण शुरू किया और 40वें मिनट में भारतीय गोलकीपर भरत छेत्री ने विरोधी कप्तान जैमी डवायेर का शर्तिया गोल बचाया। डवारेस रिवर्स फ्लिक पर भी गोल करने में नाकाम रहे। दूसरे हाफ के 13वें मिनट में आस्ट्रेलिया के लिए तीसरा गोल एडी ओकेंडेन ने किया। कप्तान जैमी डवायेर की फ्लिक पर ओकेंडेन ने स्टिक लगाकर गेंद को गोल के भीतर पहुंचाया। अनुभवी लियाम डे यंग ने 55वें मिनट में एक और गोल करके भारत की वापसी के सारे रास्ते बंद कर दिए। आस्ट्रेलिया के लिए पांचवां गोल ग्लेन टर्नर ने इसके तीन मिनट बाद किया। आखिरी मिनट में संदीप सिंह ने भारत को मिला छठा पेनाल्टी कार्नर गोल में तब्दील किया।

भारत ने पहले मैच में मलेशिया को 3-2 से हराया था जबकि आस्ट्रेलिया ने स्काटलैंड को 9-0 से मात दी थी। भारत का सामना अब स्काटलैंड से जबकि आस्ट्रेलिया का पाकिस्तान से होगा। इससे पहले कनाडा और इंग्लैंड का मैच 1-1 से ड्रा रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हाकी में आस्ट्रेलिया से हारा भारत