DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संयुक्त संसदीय समिति के चेयरमैन ए रहमान खान ने कहा

मुसलमान पिछड़ेपन के लिए खुद जिम्मेवारकोई भी हुकुमत समाज का नक्शा नहीं बदल सकती है। मुसलमान पिछड़े हुए हैं तो इसके लिए सरकार से ज्यादा उलेमा, बुद्धिाीवी और समाज जिम्मेवार हैं। अगर वे जागरूक होंगे, तो उनके अधिकार स्वत: मिलेंगे। मुसलिम के पिछड़ेपन का मुख्य कारण अशिक्षा है। उच्च शिक्षा हासिल करनेवाले मुसलमानों की संख्या काफी कम है। मुसलमानों को ज्यादा से ज्यादा तालिम हासिल करने की जरूरत है। तब ही उनका विकास होगा। उक्त बातें गुरुवार को राज्य सभा के उपाध्यक्ष सह संयुक्त संसदीय समिति के चेयरमैन के रहमान खान ने कही। वह होटल अशोका में हिन्दुस्तान के साथ खास बातचीत कर रहे थे।ड्ढr आरटीआइ का इस्तेमाल करं मुस्लिम : खान ने कहा कि राज्य में अल्पसंख्यक विकास की राशि खर्च नहीं हो रही है। शायद अधिकारी लापरवाही बरत रहे हैं। ऐसी स्थिति में अल्पसंख्यकों को चाहिए कि वे आरटीआइ कानून का इस्तेमाल करं। इससे अधिकारी और सरकार दोनों बेनकाब हो जायेंगे। उनपर कार्रवाई करने में भी आसानी होगी।ड्ढr वक्फ एक्ट का पालन नहीं हो रहा : के रहमान खान ने कहा राज्य सरकारं वक्फ की संपति का ध्यान नहीं देती है। अधिक से अधिक वक्फ की जमीन अतिक्रमित है। राज्य सरकारं अतिक्रमण हटाने की दिशा में कार्रवाई नहीं करती है।ड्ढr वक्फ संपति के विकास के लिए मिले 25 करोडड़्ढr झारखंड वक्फ बोर्ड का गठन केंद्र के दबाव पर हुआ है। खान ने बताया कि संसदीय समिति का गठन हुए दस वर्ष हो चुके हैं। समिति ने नौ साल की रिपोर्ट केंद्र सरकार को सौंपी है। वक्फ संपति के विकास के लिए 25 करोड़ सरकार से मिल गये हैं। नौ में से सात रिपोर्ट वक्फ एक्ट का पालन नहीं होने की जानकारी दी गयी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: संयुक्त संसदीय समिति के चेयरमैन ए रहमान खान ने कहा