DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुशर्रफ की टिप्पणी से हमारा दावा पुख्ताः भारत

मुशर्रफ की टिप्पणी से हमारा दावा पुख्ताः भारत

भारत ने बुधवार को कहा कि पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ की स्वीकारोक्ति केवल उसी बात की पुष्टि करती है जो भारत पिछले कई वर्षों से दोहराता आया है।

गौरतलब है कि मुशर्रफ ने एक बयान में स्वीकार किया था कि उनके देश ने कश्मीर में संघर्ष करने के लिए आतंकवादियों को प्रशिक्षण दिया था। भारत ने कहा कि यही कारण था कि भारत पाकिस्तान से यह वायदा करवाना चाहता था कि भारत विरोधी गतिविधियों के लिए उसकी जमीन का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने भारत के खिलाफ लड़ने के लिए आतंकवादी संगठनों को पाकिस्तान द्वारा प्रशिक्षण देने संबंधी मुशर्रफ के बयान पर प्रतिक्रिया करते हुए कहा कि यह व्यापक तौर पर स्वीकार्य तथ्य है और जनरल मुशर्रफ की यह स्वीकारोक्ति सिर्फ उसी बात की पुष्टि करती है जो हम तमाम वर्षों से कहते आए हैं।

उन्होंने कहा कि इसीलिए भारत ने पाकिस्तान से यह मजबूत और बाध्यकारी वायदा करने को कहा था कि वह अपनी जमीन या अपने नियंत्रण वाली जमीन का इस्तेमाल भारत के खिलाफ आतंकवादी गतिविधियों को सहायता देने में नहीं करेगा और ऐसे आतंकवादी संगठनों को शरण नहीं देगा।

पाकिस्तान के पूर्व सैन्य शासक ने स्वीकार किया था कि पाकिस्तान ने कश्मीर में संघर्ष करने के लिए भूमिगत आतंकवादियों को प्रशिक्षण दिया था। देश के किसी शीर्ष नेता की यह पहली स्वीकारोक्ति है। मुशर्रफ की यह टिप्पणी लंदन में उनकी इस घोषणा के कुछ दिनों बाद ही आई है कि वह सक्रिय राजनीति में फिर लौटेंगे। फिलहाल वह लंदन में आत्मनिर्वासन में रह रहे हैं।

मुशर्रफ ने जर्मन पत्रिका डेल स्पीगेल के कल प्रकाशित हुए अंक में एक साक्षात्कार में कहा था कि निश्चित तौर पर (कश्मीर में भारत के खिलाफ संघर्ष के लिए भूमिगत आतंकवादी संगठनों का) गठन किया गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुशर्रफ की टिप्पणी से हमारा दावा पुख्ताः भारत