DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नागार्जुन के ठिकानों पर आयकर का देशव्यापी छापा

झारखंड में निर्माण के क्षेत्र में बड़े पैमाने पर काम करने वाली नागार्जुन कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड के कई ठिकानों पर कर वंचना (टैक्स इवेशन) के आरोप में आयकर विभाग की हैदराबाद शाखा ने बुधवार को देशव्यापी छापेमारी की। रांची के तीन स्थानों पर भी आयकर अधिकारियों ने छापा मारा। इसके अलावा मुम्बई, दिल्ली, बैंगलोर, पुणे, हैदराबाद, सिकंदराबाद आदि शहरों में स्थित नागार्जुन कंपनी के ठिकानों को खंगाला गया। छापेमारी का काम रात तक जारी था।

रांची में नागार्जुन कंस्ट्रक्शन कंपनी के अशोकनगर स्थित कार्यालय तथा होटवार (खेल गांव के समीप) बनाये गये दो कैंप कार्यालयों में छापेमारी की गयी। छापेमारी के संबंध में पूछे जाने पर झारखंड के अपर निदेशक (अन्वेंषण) अजीत कुमार श्रीवास्तव ने पुष्ठि की कि आयकर हैदराबाद की टीम ने नागार्जुन कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड के कार्यालयों में छापा मारा है।

इसके अलावा उन्होंने कुछ भी बताने से इनकार कर दिया। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हैदराबाद से आयकर अधिकारियों की टीम बीते कल मंगलवार को ही रांची पहुंची थी। बुधवार की सुबह नौ बजे आयकर अधिकारियों की तीन टीमें अशोकनगर रोड नंबर-पांच तथा होटवार पहुंची। तीनों कार्यालयों को सील कर दिया गया। देर रात तक छापेमारी चल रही थी।

हैदराबाद की कंपनी है नागार्जुन- नागार्जुन कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड का मुख्यालय आंध्रप्रदेश की राजधानी हैदराबाद में है। कंपनी दक्षिण भारत के कई राज्यों में निर्माण के क्षेत्र में काम कर रही है। हिन्दीभाषी राज्यों में इस कंपनी झारखंड में जोर-शोर से काम कर रही है। कंपनी के कार्यकारी निदेशक जीवीके राजु हैं।

राष्ट्रीय नेता के दामाद की है कंपनी- हालांकि यह कंपनी प्राइवेट लिमिटेड है, मगर अक्सर यह चर्चा होती रहती है कि एक राष्ट्रीय नेता के दामाद का ज्यादातर शेयर इस कंपनी में लगा हुआ है।


झारखंड में कई बड़ा ठेका मिला है कंपनी को- नागार्जुन को झारखंड में कई बड़े ठेके मिले हैं। पथ निर्माण, जल संसाधन, खेल और विद्युतीकरण के क्षेत्र में नागार्जुन कंपनी झारखंड में काम कर रही है।

खेल गांव का निर्माण कराया नागार्जुन ने- 34वें राष्ट्रीय खेल की मेजबानी झारखंड को मिली थी। इसके आयोजन के लिए राज्य सरकार ने नागार्जुन कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड को खेल गांव बनाने का ठेका दिया था। इस ठेके को लेकर काफी विवाद भी अक्सर होता रहा है।

हाट-गम्हरिया सड़क का निर्माण- अर्जुन मुंडा की सरकार हाट-गम्हरिया सड़क की वजह से गिर गयी थी। इसके बाद मधु कोड़ा ने राज्य की कमान संभाली थी। इस सड़क का निर्माण भी नागार्जुन कंपनी ही कर रही है। हालांकि इसमें कंपनी सड़क के विभिन्न हिस्सों के निर्माण का कार्य सब-लेटों के माध्यम से करा रही है।

आयकर अधिकारी श्रीनिवास के नेतृत्व में आयकर विभाग की हैदराबाद शाखा द्वारा छापेमारी की गयी। नागार्जुन कंपनी के झारखंड में कार्यकलापों के संबंध में उन्होंने यहां के आयकर अधिकारियों से सम्पर्क किया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नागार्जुन के ठिकानों पर आयकर का देशव्यापी छापा