अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूची लेकर दिल्ली गए मुंडा

मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा संभावित मंत्रियों की सूची लेकर बुधवार को दिल्ली गए। आलाकमान से सूची पर मुहर लगवा कर गुरुवार को लौटेंगे। मंत्रिमंडल विस्तार से पहले मुंडा अपने विधायकों को विश्वास में लेने की कवायद में लगे हैं। इस सिलसिले में उन्होंने बुधवार को भाजपा विधायक दल की बैठक बुलाई और विधायकों को विश्वास में लिया।

मुंडा विधायकों की सूची और सबकी राय लेकर पर राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी व अन्य वरिष्ठ नेताओं से विचार करेंगे। मुंडा के साथ केंद्रीय नेता सौदान सिंह और हरेंद्र प्रताप भी गए हैं। मंत्रिमंडल विस्तार में हो रही देरी और विधायकों में मंत्री बनने की बढ़ती महत्वाकांक्षा को देखते हुए मुख्यमंत्री ने आनन-फानन में बुधवार को भाजपा विधायक दल की बैठक बुलाई।

भाजपा के 18 विधायक हैं, जिनमें से 13 विधायक बैठक में शामिल हुए। विधायकों के नहीं आने के बारे में कहा गया कि अचानक बैठक बुलाने और अपने क्षेत्र में व्यस्त कार्यक्रम के कारण वह शामिल नहीं हो पाए। इसमें किसी तरह के मतभेद की बात नहीं है। बैठक में राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री सौदान सिंह, भाजपा के प्रदेश प्रभारी हरेंद्र प्रताप और क्षेत्रीय संगठन महमंत्री प्रसन्न मिश्र भी मौजूद थे।

बैठक के बाद मुंडा ने मीडिया से कहा मंत्रिमंडल का विस्तार 8 अक्टूबर को होगा। सभी मंत्री इस दिन शपथ लेंगे। विधायकों ने संगठन के प्रति विश्वास व्यक्त किया है। संगठन के निर्णय का सभी स्वागत करेंगे। मंत्रिमंडल में महिला प्रतिनिधित्व की बात को उन्होंने टालते हुए कहा कि किसी को निराश नहीं किया जाएगा, हर क्षेत्र से लोगों को शामिल किया जाएगा।

विस्तार से पहले गठबंधन सरकार के सभी विधायकों की बैठक बुलाने और उन्हें भी विश्वास में लेने के मुद्दे पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह जिम्मेदारी गठबंधन समन्वय समिति की है। उन्हें सभी बातों से अवगत करा दिया गया है, वह बैठक बुलाएंगे या नहीं यह उन पर निर्भर करता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सूची लेकर दिल्ली गए मुंडा