DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रीय खेल घोटाले को लेकर एफआइआर

आरके आनंद, पीसी मिश्र, एसएम हाशमी और मधुकांत पाठक पर बुधवार को निगरानी ने एफआइआर दर्ज कर ली। राष्ट्रीय खेल घोटाला मामले में झारखंड कुश्ती संघ के महासचिव भोलानाथ सिंह ने 27 सितंबर को निगरानी में एफआइआर का आवेदन दिया था।

आरके आनंद पूर्व राज्यसभा सदस्य और सुप्रीम कोर्ट के वकील हैं। झारखंड ओलंपिक एसोसिएशन के अध्यक्ष तथा राष्ट्रीय खेल आयोजन समिति के कार्यकारी अध्यक्ष भी हैं। राज्य के पूर्व खेल निदेशक पीसी मिश्र आइएफएस अफसर हैं और स्वास्थ्य विभाग में हैं। एसएम हाशमी राष्ट्रीय खेल आयोजन सचिव और मधुकांत पाठक कोषाध्यक्ष हैं।

लीगल सेल से हरी झंडी मिलने के बाद निगरानी थाने में बुधवार को एफआइआर संख्या 49/2010 दर्ज की गई। इन चारों पर 420, 409, 120 बी, 467, 468, 471, 109 व 406 के तहत मामला दर्ज हुआ है। अनुसंधान का जिम्मा एसपी पीके कर्ण को दिया गया है।

भोलानाथ सिंह गड़बड़ी व घोटालों का मामला लेकर पिछले साल अगस्त में हाइकोर्ट में गए थे। वहां हुई सुनवाई के बाद हाइकोर्ट ने उन्हें प्रमाणों के साथ निगरानी में जाने का विकल्प सुझाया था। भोलानाथ सिंह ने निगरानी में मामला दर्ज किया। सिंह ने इसके अलावा मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा, मुख्य सचिव एके सिंह, महाधिवक्ता सुहैल अनवर व वित्त सचिव सुखदेव सिंह को भी आवेदन देकर कार्रवाई की मांग की थी।

क्या हैं आरोपः
-  बाजार मूल्य से कई गुणा अधिक में खेल सामग्री खरीदी
- जरूरत से कहीं ज्यादा खेल सामग्री क्रय की कई कंपनियों को करोड़ों का अतिरिक्त भुगतान
-  बिना टेंडर 11 करोड़ की हाइमास्ट लाइट बिरसा स्टेडियम में लगी
-  वीवीआइपी गेस्ट हाउस में एक करोड़ की फर्निशिंग
-  धनबाद में 1.6 करोड़ का स्क्वैश कोर्ट बगैर टेंडर बना
-  10 करोड़ का वीडियो स्क्रीन बिना जरूरत खरीदा
-  आइओए की एजीएम हुई एक, बताया दो

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राष्ट्रीय खेल घोटाले को लेकर एफआइआर