DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नींद में कमी की तो नहीं होगा मोटापा कम

नींद में कमी की तो नहीं होगा मोटापा कम

अगर आप डाइटिंग से मोटापा कम कर रहे हैं तो अच्छी बात है लेकिन ध्यान रखिए रात को नींद पूरी लें अन्यथा यह कोशिश आधी रह जाएगी। शिकागो विश्वविद्यालय के अनुसंधानकर्ताओं ने पाया कि भरपूर नींद नहीं लेने से घ्रेलिन नामक एक हारमोन के निर्माण में तेजी आती है जो शारीरिक गतिविधि में खलल डालता है और वसा को जलाने की प्रक्रिया धीमी पड़ती है। यही नहीं भूख भी अधिक लगने लगेगी।

अध्ययन के प्रमुख विश्वविद्यालय के प्रोफेसर प्लामेन पेनेव के अनुसार अगर आप का लक्ष्य वसा कम करना है तो नींद नहीं लेना ऐसा है मानो आप अपनी साइकिल के पहियों में छेद कर लें।

टेलीग्राफ ने उनके हवाले से कहा कि नींद में कटौती आधुनिक समाज के व्यवहार में शुमार हो गया है लेकिन डाइटिंग के जरिये मोटापा घटाने के प्रयास से यह एक तरह से समझौता है। हमारे अध्ययन के अनुसार इससे मोटापे में कमी 55 प्रतिशत तक प्रभावित हो सकती है।

अध्ययन के लिये पेनेव और उनके सहयोगियों ने दस मोटे लेकिन स्वस्थ्य काम करने वाले व्यक्तियों को लिया और चार हफ्ते तक उनपर प्रयोग किया। पहले पखवाडे में उन्हें साढे आठ घंटे तक सोने दिया और उसके बाद के दो हफ्ते में साढे पांच घंटे। नतीजा यह रहा कि जिस अवधि में अच्छी नींद उन्होंने ली उस दौरान मोटापा अधिक घटा। प्रोफेसर पेनेव की सलाह है कि जो लोग डाइट पर हैं वे नींद से समझौता न करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नींद में कमी की तो नहीं होगा मोटापा कम