DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रेणु और रवि ने भारत के लिए उठाया सोना

रेणु और रवि ने भारत के लिए उठाया सोना

कुतुलु रवि कुमार और युमनाम रेणु बाला चानू ने अपेक्षाओं पर खरे उतरते हुए राष्ट्रमंडल खेलों की भारोत्तोलन प्रतियोगिता में बुधवार को स्वर्ण पदक जीतकर पिछले एक साल से डोपिंग के डंक से जूझ रहे इस खेल में नई जान भरी।

रेणु बाला ने महिलाओं की 58 किग्रा में कुल 197 किग्रा भार उठाकर भारत को पहला स्वर्ण पदक दिलाया जबकि खिताब के प्रबल दावेदार रवि कुमार ने 69किग्रा राष्ट्रमंडल खेलों के नए रिकार्ड के साथ सोने का तमगा हासिल किया।

इस तरह से भारोत्तोलन में अब तक भारत दो स्वर्ण और दो रजत और दो कांस्य पदक हासिल कर चुका है। भारत के लिए पहले दिन सोनिया चानू और सुखेन डे ने रजत जबकि संध्या रानी और वी एस राव ने कांस्य पदक जीते थे।

रवि कुमार ने शुरू से ही अपने प्रतिद्वंद्वियों को पीछे छोड़ा तथा स्नैच तथा क्लीन एवं जर्क दोनों में सबसे अधिक भार उठाकर खेलों का नया रिकार्ड बनाया। उन्होंने स्नैच में 146 और क्लीन एवं जर्क में 175 किग्रा भार उठाया और इस तरह से कुल 321 किग्रा के नए रिकार्ड के साथ सोने का तमगा अपने नाम लिखा।

क्लीन एवं जर्क में श्रीलंका के सीजीवी विदानागे ने उन्हें कुछ टक्कर दी लेकिन रवि कुमार ने अंतिम प्रयास में 175 किग्रा भार उठाकर अपने इस प्रतिद्वंद्वी को पीछे छोड़ दिया। श्रीलंकाई भारोत्तोलक ओवरआल भारतीय से काफी पीछे रहा। उन्होंने कुल 308 (स्नैच में 134 और क्लीन एवं जर्क में 174) किग्रा भार उठाकर रजत पदक हासिल किया।

इस वर्ग का कांस्य पदक मलेशिया के मोहम्मद हफी मंसूर ने जीता। उन्होंने स्नैच में 137 किग्रा भार उठाया लेकिन क्लीन एवं जर्क में वह 169 किग्रा वजन ही उठा पाए और इस तरह से कुल 306 अंक के साथ तीसरे स्थान पर रहे।

इससे पहले रेणु बाला ने सभी भार में अपनी सभी प्रतिद्वंद्वियों को पीछे छोड़ा लेकिन क्लीन एवं जर्क में 113 किग्रा भार उठाने के प्रयास में चूक गईं। तब तक हालांकि इस भारतीय भारोत्तोलक ने पहला स्थान पक्का कर लिया था।

आस्ट्रेलिया की सीन ली ने उनके करीब आने की कोशिश की लेकिन उन्हें आखिर में रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा। इंग्लैंड की जो स्मिथ को कांस्य पदक मिला। रेणु बाला शुरू से ही सहज दिख रही थी। उन्होंने स्नैच में सर्वाधिक 90 किग्रा भार उठाया जो राष्ट्रमंडल खेलों का नया रिकार्ड है। सियाना एग्रीकोल ने स्नैच में 87 किग्रा भार उठाया लेकिन आखिर में वह चौथे स्थान पर रही।

क्लीन एवं जर्क में रेणु बाला ने पहले प्रयास में 104 किग्रा भार उठाया और इसके बाद 107 किग्रा भार उठाकर अपना स्वर्ण पदक पक्का किया। इस तरह से उन्होंने कुल 197 किग्रा भार उठाकर सोने का तमगा हासिल किया।

ली ने स्नैच में 86 किग्रा भार उठाने के बाद क्लीन एवं जर्क में 106 किग्रा भार उठाया। उन्होंने इसके बाद 111 किग्रा भार उठाने की कोशिश की लेकिन वह इसमें असफल रही। वह 192 किग्रा के साथ रजत पदक ही जीत पाई। रेणु बाला ने तीसरे और अंतिम प्रयास में 113 किग्रा भार उठाने की कोशिश की लेकिन इसमें असफल रही। कांस्य पदक विजेता जो स्मिथ ने कुल 188 किग्रा भार उठाया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रेणु और रवि ने भारत के लिए उठाया सोना