अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विद्युत क्षेत्र में 300 अरब डालर निवेश का अवसर: शिंदे

केंद्रीय विद्युत मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने विदेशी निवेशकों का भारत में पूंजीनिवेश करने का आह्वान करते हुए कहा कि अगले कुछ वर्षों में सिर्फ विद्युत क्षेत्र में 300 अरब डॉलर का निवेश करने का अवसर हैं।

 शिंदे ने कल न्यूयार्क में भारत निवेश फोरम की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि बिजली की उपलब्धता बढ़ाने के लिए हमने इसका उत्पादन बढाने का व्यापक अभियान छेडा है जिसमें अगले कुछ वर्षों में 300 अरब डालर का निवेश होगा। उन्होंने कहा कि हमें निश्चित रुप से विदेशी प्रत्यक्ष निवेश की जरुरत है और हम इसका स्वागत करेंगे।

 उन्होंने कहा कि भारत विद्युत क्षेत्र में न्यूनतम कार्बन उत्सर्जन की नीति अपना रहा है और हमारा ध्यान सुपर क्रिटिकल प्रौद्योगिकी अपनाने तथा अक्षय ऊर्जा को बढ़ावा देने पर है। हमने 2020 तक अक्षय उर्जा स्रोतों से 20000 मेगावाट विद्युत उत्पादन की योजना बनाई है।
 
उन्होंने कहा कि भारत की कुल विद्युत उत्पादन क्षमता इस समय 164000 मेगावाट से अधिक है तथा इस मामले में वह विश्व में पांचवें स्थान पर है। इसके बावजूद देश में बिजली की नौ से दस प्रतिशत कमी है जो व्यस्त समय में बढकर 12 प्रतिशत हो जाती है। बिजली की किल्लत दूर करने तथा सभी को बिजली उपलब्ध कराने के लिए 11वीं योजना में विद्युत उत्पादन क्षमता में 62000 मेगावाट की बढोत्तरी का लक्ष्य रखा गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विद्युत क्षेत्र में 300 अरब डालर निवेश का अवसर: शिंदे