अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नारंग, अनीसा और ओमकार ने जीते स्वर्ण

नारंग, अनीसा और ओमकार ने जीते स्वर्ण

शीर्ष निशानेबाज गगन नारंग ने देशवासियों की उम्मीदों पर खरा उतरते हुए बुधवार को डा कर्णी सिंह शूटिंग रेंज में पुरुषों की व्यक्तिगत 10 मी एयर राइफल एकल स्पर्धा जबकि अनीसा सैय्यद और ओमकार सिंह ने भी अपनी स्पर्धाओं में स्वर्ण पदक जीते जिससे भारत ने बुधवार को निशानेबाजी में तीन स्वर्ण सहित कुल छह पदक अपनी झोली में डाले।

भारत के लिए सोने की शुरुआत नारंग ने की जिसके बाद अनीसा ने महिला एकल 25 मी पिस्टल और ओमकार ने व्यक्तिगत 50 मी पिस्टल स्पर्धा में सोने का तमगा दिलाया। बीजिंग ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचने वाले अभिनव बिंद्रा ने 10 मी एयर राइफल में दूसरा स्थान हासिल किया।

राष्ट्रमंडल खेलों में निशानेबाजों ने हमेशा ही भारत को सबसे ज्यादा पदक दिलाये हैं, आज की ज्यादातर स्पर्धाओं में मेजबान देश ने दबदबा जारी रखा जिसमें वे सात पदक के दावेदार थे। हाल में विश्व कप फाइनल्स में पहला स्थान हासिल करने वाले रोंजन सोढी (95) और अशेर नूरिया (93) ने मिलकर पेयर्स डबल ट्रैप स्पर्धा में 188 के स्कोर से रजत पदक दिलाया।

अगस्त में म्यूनिख में हुई विश्व निशानेबाजी चैम्पियनशिप में सोने का तमगा हासिल कर 2012 लंदन ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुके नारंग ने इन खेलों का रिकार्ड तो बनाया ही बल्कि क्वालीफाइंग राउंड में परफेक्ट 600 बनाकर 703.6 के स्कोर से अपने रिकार्ड की बराबरी भी की।

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई सोने के तमगे अपने नाम कर चुके नारंग और बिंद्रा ने मिलकर 10 मी एयर राइफल पेयर्स स्पर्धा में कल भारत को स्वर्ण पदक दिलाया था।

महिलाओं की व्यक्तिगत 10 मी एयर राइफल स्पर्धा में राही सरनोबत ने दूसरा स्थान हासिल किया जबकि दीपक शर्मा सातवें पदक के दावेदार के रूप में असफल रहे। भारत ने बुधवार को तीन स्वर्ण और तीन रजत का इजाफा कर निशानेबाजी में अब तक पांच स्वर्ण और तीन रजत पदक जीते।

स्टार निशानेबाज नारंग ने 703.6 (क्वालीफाइंग 600 और फाइनल्स 103.6) और बिंद्रा ने 698 (क्वालीफाइंग 595 और फाइनल्स 103) का स्कोर बनाया। बिंद्रा की शुरुआत हालांकि थोड़ी धीमी रही। वह क्वालीफाइंग राउंड में 99, 98 का स्कोर बनाने के बाद थोड़े परेशान थे और उन्होंने कोच से बात की। जिसका उन्हें फायदा मिला, फिर उन्होंने 100, 98, 100 और 100 का स्कोर बनाया। फाइनल्स में उन्होंने 103 का स्कोर बनाया। इंग्लैंड के जेम्स हकल ने कांस्य पदक जीता।

अनीसा ने 786 और राही ने 781 का स्कोर बनाया, दोनों ने कल पेयर्स एकल 25 मी पिस्टल में पहला स्थान हासिल किया था। कांस्य पदक मलेशिया की पेई चिन बिबाना एनजी के नाम रहा। ओमकार (557 और 96.6) को मलेशिया के बिन गाई से कड़ी चुनौती मिली, जो क्वालीफाइंग राउंड में 558 का स्कोर बनाकर उनसे एक अंक आगे थे, लेकिन इस भारतीय ने फाइनल्स में शानदार वापसी करते हुए 96.6 अंक बनाए जबकि गाई 91.6 का स्कोर ही बना सके। तीसरा पदक मलेशिया के स्वी होन लिम ने प्राप्त किया।

सोढी और नूरिया की जोड़ी इंग्लैंड के स्टीवन स्काट और स्टीवन वाल्टन से केवल एक अंक से पिछड़ गई जिन्होंने 189 अंक से स्वर्ण पदक हासिल किया। मलेशिया के बेंजामिन चेंग जिये खारे और चे सेंग खोर ने 185 अंक से तीसरा स्थान प्राप्त किया। रोंजन सोढ़ी को कोचिंग दे चुके आस्ट्रेलियाई रसेल मार्क और निकोलस किरले की जोड़ी पदक हासिल करने से चूक गए जिन्होंने 184 का स्कोर बनाया। मंगलवार को सोढी और नूरिया पुरुषों की व्यक्तिगत डबल ट्रैप स्पर्धा में भाग लेंगे।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नारंग, अनीसा और ओमकार ने जीते स्वर्ण