अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोटद्वार से भागकर वसुंधरा पहुंचे थे युवक

उत्तराखंड के कोटद्वार स्थित नशा मुक्ति केंद्र से भागकर वसुंधरा पहुंचे आधा दजर्न युवकों ने यौन शोषण का आरोप लगाया है। आरोप है कि नशा छुड़ाने के नाम पर उन्हें कैद करके रखा गया और शारीरिक यातनाएं दी गईं। यहां तक कि पिटाई के बाद घावों पर मरहम लगाने के बजाय लाल मिर्च डाली गई। वसुंधरा में पार्षद के माध्यम से युवकों को उनके घर पहुंचाया गया।


कोटद्वार में नशा मुक्ति केंद्र से सोमवार की देर रात भागे आधा दजर्न युवक मंगलवार की सुबह किहुंचा दिया। युवकों में से दिल्ली के संदीप ने बताया कि उन्हें शराब पीने की लत के चलते परिजनों ने नशा मुक्ति केंद्र भेज दिया था। संदीप का आरोप था कि केंद्र के कर्मचारी उनसे सारा काम कराते और बिना किसी कारण के बुरी तरह पीटते थे।
चोट लगने पर घाव पर लाल मिर्च डाला जाता था। इसका विरोध करने पर उन्हें और प्रताड़नाएं दी जाती थीं। युवकों का कहना था कि जब उनके परिजन कभी मिलने आते तो उन्हें बुरी तरह भयभीत करने के बाद ही परिजनों से मिलने दिया जाता था। वसुंधरा पहुंचने पर पार्षद व अन्य लोगों ने युवकों के घर फोन कर उन्हें सारी बात बताई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कोटद्वार से भागकर वसुंधरा पहुंचे थे युवक