अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाकिस्तानी-अमेरिकी शहजाद को उम्रकैद की सजा

पाकिस्तानी-अमेरिकी शहजाद को उम्रकैद की सजा

इस साल मई में टाइम्स स्क्वायर के विफल बम हमले की साजिश रचने के मामले में 100 दफा अपना गुनाह कबूलने वाले पाकिस्तानी-अमेरिकी आतंकवादी फैजल शहजाद को मंगलवार को आतंकवाद एवं हथियार रखने के 10 आरोपों में उम्रकैद की सजा सुनाई गई।

मैनहट्टन की एक अदालत के संघीय न्यायाधीश ने पाकिस्तानी वायुसेना के एक सेवानिवृत्त वाइस मार्शल के 30 वर्षीय पुत्र शहजाद को अनिवार्य उम्रकैद की सजा सुनाई। शहजाद ने देसी बम को एक वाहन के पीछे रखा था। एक मई को विफल हुए हमले में उस बम में विस्फोट तो हुआ लेकिन टाइम्स स्क्वायर इलाके में इससे कोई जख्मी नहीं हुआ।

इस हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तानी तालिबान ने ली थी और आरोप में यह भी कहा गया कि शहजाद को तहरीक-ए-तालिबान से जुड़ी संस्थाओं में पाकिस्तान में प्रशिक्षण दिया गया था। अदालत में पेश हुए शहजाद ने मंगलवार को अमेरिका से कहा कि वह तैयार हो जाए क्योंकि मुस्लिमों के साथ युद्ध की तो शुरुआत हुई है।

पेशे से बजट विश्लेषक रहे शहजाद ने अदालत में कहा कि हम तुम्हारी आजादी की उम्मीद नहीं करते। हमारे पास पहले से शरीयत कानून और आजादी है। काफी आरामतलबी से शहजाद ने कहा कि हम मुसलमान मानव-निर्मित कानूनों का पालन नहीं करते क्योंकि वे भ्रष्ट हैं। उसने आरोप लगाया कि जब उससे पूछताछ हो रही थी तो एफबीआई ने उसके परिवार को धमकाया।

खुद को एक मुसलमान सैनिक करार देने वाले शहजाद ने आतंकवाद और हथियार रखने के 10 आरोपों में 100 दफा अपना गुनाह कबूला था। उसने यह भी कबूल किया कि पाकिस्तान के अशांत वजीरिस्तान प्रांत के कबायली इलाकों में उसे प्रशिक्षित आतंकवादी मिले। शहजाद ने जून में एक बयान में कहा था मैं अपना गुनाह कबूलना चाहता हूं और मैं 100 दफा गुनाह कबूल करने जा रहा हूं क्योंकि जब तक अमेरिका अपने सैनिकों को इराक और अफगानिस्तान से वापस नहीं बुलाता, सोमालिया, यमन और पाकिस्तान में ड्रोन हमले नहीं रोकता, मुस्लिम भूमि पर कब्जा नहीं रोकता और मुसलमानों को मारने से बाज नहीं आता, हम अमेरिका पर हमले करते रहेंगे और मैं यह गुनाह कबूल करता हूं।

गौरतलब है कि शहजाद को तीन मई को जॉन एफ केनेडी हवाई अड्डे पर उस वक्त गिरफ्तार किया गया था जब वह दुबई के रास्ते पाकिस्तान भागने की कोशिश में था। वह सूचनाएं देकर संघीय अधिकारियों के साथ सहयोग करता रहा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पाकिस्तानी-अमेरिकी शहजाद को उम्रकैद की सजा