DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीएम कोटे के बने हैं 30 मकान

एमएमजी अस्पताल में डॉक्टर व स्टाफ के रहने के लिए बने एक भवन का छज्जा आज भरभराकर गिर गया। शुक्र रहा कि जिस समय यह छज्जा गिरा उस समय नीचे के मकान में कोई बाहर नहीं था। बताया गया है कि छज्जा गिरने के कुछ समय पहले ही नीचे के मकान में बच्चे खेल रहे थे। लेकिन बच्चे खेलते हुए अचानक भीतर चले गए। तभी यहां हादसा हो गया। हादसे में किसी के हताहत होने की कोई सूचना नहीं है। छज्जा गिरने से आसपास रहने वाले अन्य कर्मचारियों में भी दहशत बनी हुई है। उनके मकान भी पूरी तरह जजर्र हो चुके हैं।

जिला अस्पातल के डॉक्टरों व स्टाफ के रहने के लिए डीएम कोटे के तीन मंजिला 30 भवन बने हुए हैं। इनका निर्माण पीडब्ल्यूडी ने वर्ष 1975 में कराया था। उसके बाद इन भवनों की सुध लेने वाला कोई नहीं है। हालात यह है कि मकान पूरी तरह जजर्र हो चुके हैं। मकानों की दीवारों में दरार आई हुई है। छह की पैराफिट पूरी तरह टूट चुकी है। इतना ही नहीं दूसरे व तीसरी मंजिल पर जाने वाली सीढ़ियां भी पूरी तरह टूट चुकी है। मकानों के छज्जों की हालत सबसे ज्यादा खराब है। हालात यह हैं कि अब इन मकानों में रहने वाले डाक्टरों व कर्मचारियों ने छज्जा में जाना बंद कर दिया है। अधिकतर मकानों में छज्जो वाला दरवाजा पूरी तरह बंद कर दिया है।


मंगलवार को करीब दो बजे इन्हीं मकानों में से मौजूद एक तीसरी मंजिल के मकान का छज्जा भरभराकर गिर गया। छज्जा गिरने से हुई अवाज सुन सभी लोग मकानों से बाहर आ गए। जिस मकान का छज्जा गिरा उसमें स्वास्थ्य कर्मचारी ललित कुमार रहते हैं। उनसे नीचे के मकान में चीफ फार्मासिस्ट आर.डी यादव व सबसे नीचे के मकान में चीफ पैथॉलोजिस्ट एके तोमर रहते हैं। छज्जा गिरने से कुछ समस पहले तक नीचे बच्चे खेल रहे थे। कुछ समय पहले ही अचानक बच्चे घर के भीतर चले गए। यदि यह छज्जा बच्चों के ऊपर गिरता तो बड़ा हादसा हो सकता था। मकानों को लेकर यहां रहने वाले स्टाफ में काफी रोष हैं। कर्मचारियों ने सीएमएस को इस संबंध में शिकायत की है। सीएमएस डा. एके वर्मा का कहना है कि इस विषय में डीएम से वार्ता की जाएगी। पूर्व सीएमएस डा. वाईसी गुप्ता ने भी कई बार इस जजर्र मकानों को लेकर डीएम को अवगत कराया था। लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:डीएम कोटे के बने हैं 30 मकान