अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पारा शिक्षकों की वार्ता विफल, हड़ताल जारी

पारा शिक्षकों ने मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा का प्रस्ताव ठुकराते हुए हड़ताल जारी रखने की घोषणा की है। पांच अक्तूबर को मुख्यमंत्री आवास घेरने पहुंचे पारा शिक्षकों के प्रतिनिधिमंडल से मुंडा ने बातचीत करते हुए कहा कि वे दो दिनों में हड़ताल समाप्त करें, दो महीने में उनकी समस्याओं का समाधान हो जाएगा। परंतु पारा शिक्षक आश्वासन पर मानने को तैयार नहीं थे।

इधर, आक्रोशित पारा शिक्षक ने झारखंड बंद कराने को लेकर कार्यकारिणी की बैठक छह अक्तूबर को बुलायी है। इससे पहले हजारों की संख्या में पारा शिक्षक मुख्यमंत्री आवास के समक्ष प्रदर्शन के लिए राजधानी के चारों प्रवेश मार्गो से पैदल चलकर मोरहाबादी मैदान पहुंचे। पारा शिक्षक आगे बढ़ते इससे पहले पुलिस ने वहीं रोक दिया। पारा शिक्षक सड़क पर जम गये।

एहतियात के तौर पर मुख्यमंत्री आवास के समक्ष चारों ओर से पुलिस ने जबरदस्त बैरिकेटिंग कर रखी थी। काफी संख्या में पुलिस बल भी तैनात किये गये थे। पुलिस द्वारा रोके जाने पर पारा शिक्षक वहीं नारेबाजी और प्रदर्शन करने लगे। पूरे दिन प्रदर्शन चलता रहा। इसी बीच मुख्यमंत्री ने उन्हें वार्ता के लिए बुला लिया। वार्ता विफल होने के बाद धरना स्थल पर माहौल काफी गर्म हो गया था। इसे देखते हुए पुलिस भी सक्रिय हो गई। अतिरिक्त पुलिस बल मंगा लिया गया।

एसएसपी प्रवीण सिंह खुद कमान संभाल रहे थे। काफी हो हंगामे के बाद मामला शांत हुआ। बंद की तैयारी को लेकर रांची आए शिक्षक यहीं जमे हुए हैं। इधर सरकुलर रोड और आसपास के क्षेत्रों बैरिकेटिंग और पारा शिक्षकों के जुलूस के कारण पूरा शहर अस्त-व्यस्त रहा। जगह-जगह ट्रैफिक जाम रहे। इसके कारण आने-जानेवालों को काफी परेशानी उठानी पड़ी। पारा शिक्षकों का एक गुट 27 अगस्त से एवं तीन अगस्त से सभी गुट सामूहिक रूप से हड़ताल पर हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पारा शिक्षकों की वार्ता विफल, हड़ताल जारी