अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गणित से है प्यार तो कंप्यूटर में करियर बनाएं खास

गणित से है प्यार तो कंप्यूटर में करियर बनाएं खास

कंप्यूटर के युग में अब हमारे सारे कार्य कंप्यूटर संचालित होते जा रहे हैं। कंप्यूटर साइंस की लगभग सभी एप्लीकेशन्स गणित पर आधारित हैं। ऐसे में उन लोगों के लिए कंप्यूटर साइंस और इसकी एप्लीकेशन्स में काफी संभावनाएं हैं, जो गणित से प्यार करते हैं।

यों तो करियर की दृष्टि से गणित सैकड़ों साल से काफी मजबूत क्षेत्र है। सिर्फ करियर ही नहीं, बल्कि कुछ नया करने की क्षमता को निखारने और प्रकृति के रहस्यों का पता लगाने का कार्य गणित के बिना संभव नहीं है। विज्ञान की तरक्की और वैश्वीकरण के चलते आज इसका कई नए कार्य क्षेत्रों में भी उपयोग किया जा रहा है, पर अधिकतर विद्यार्थी गणित को कठिन विषय मानते हैं। मन में बैठा हौवा उनको गणित में गुणा-जोड़-घटा से ज्यादा कुछ नहीं करने देता, अन्यथा गणित वह विषय है, जिसमें करियर के बहुत से विकल्प हैं। इसमें मांग की तुलना में योग्य और विश्लेषकों की काफी कमी है।

इसी दूरी को पाटने के लिए इग्नू का एसएससी (मैथेमेटिक्स विद एप्लीकेशन्स इन कंप्यूटर साइंस) यानी एमएसीएस कोर्स काफी कारगर साबित हो सकता है। इस कोर्स के तहत छात्र को गणित को व्यावहारिक जीवन में उतारने और उस पर शोध करने का अवसर उपलब्ध होगा। उसे गणित के माध्यम से कंप्यूटर साइंस के संदर्भ में विश्व की समस्याओं पर चर्चा करने और उनका हल निकालने का भी मौका मिलेगा।

योग्यता

एमएसीएस कोर्स करने के लिए विद्यार्थी के गणित विषय में मेजर या ऑनर्स के साथ बीएससी में कम से कम पचास प्रतिशत अंक होने चाहिए।  इसके साथ ही कंप्यूटर की भी जानकारी होनी चाहिए।

प्रवेश

इच्छुक अभ्यर्थी अपने नजदीकी इग्नू संस्थान से प्रॉस्पेक्टस लेकर उसमें दिए फार्म को भर कर फीस के डीडी के साथ जमा करें। प्रॉस्पेक्टस की कीमत 100 रुपए है। डाक द्वारा प्रॉस्पेक्टस मंगाने पर पचास रुपए अतिरिक्त डाक खर्च लगेगा। विद्यार्थी ऑनलाइन भी आवेदन कर सकते हैं।

शुल्क

इस कोर्स का शुल्क प्रथम सेमेस्टर के लिए 4900 रुपए तथा दूसरे, तीसरे व चौथे सेमेस्टर के लिए 4800 रुपए है। यदि किसी कारणवश अभ्यर्थी किसी वर्ष परीक्षा देने में असमर्थ रहता है तो अगली परीक्षा में बैठने के लिए उसे परीक्षा शुल्क अलग से जमा कराना होगा। इस कोर्स का माध्यम केवल अंग्रेजी है।

छात्रवृत्ति

इग्नू में सरकारी वरीयता के आधार पर एससी, एसटी, पिछड़ा वर्ग, विकलांग और शहीद आश्रित उम्मीदवार छात्रवृत्ति के पात्र माने जाते हैं। ऐसे अभ्यर्थी समाज कल्याण कार्यालय अथवा अधिकारी से आवेदन-पत्र प्राप्त कर सभी शर्तो को पूरा करते हुए अपना आवेदन जमा कर सकते हैं।

अवसर

एमएससी कंप्यूटर विज्ञान में अनुप्रयोग सहित कोर्स करने के बाद अभ्यर्थी अध्यापन से लेकर विभिन्न अनुसंधान केन्द्रों में आवेदन करने के अलावा रिसर्च एंड डेवलपमेंट लेबोरेट्रीज अथवा स्टेटोरिकल टेक्निकल क्षेत्र में किस्मत आजमा सकते हैं। अच्छे गणितज्ञ विभिन्न प्रसिद्घ रिसर्च अनुसंधानों जैसे नासा, इसरो आदि में भी मौका तलाश सकते हैं।

संपर्क
वेबसाइट- wwww.ignou.ac.in या www.ignourcd.ac.in पर लॉगऑन करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गणित से है प्यार तो कंप्यूटर में करियर बनाएं खास