DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारतीयों ने दो गोल्ड पर लगाया निशाना

भारतीयों ने दो गोल्ड पर लगाया निशाना

राष्ट्रमंडल खेलों की निशानेबाज़ी स्पर्धा में अपना स्वर्णिम अभियान शुरू करते हुए भारत ने मंगलवार को कर्णीसिंह रेंज पर दो स्वर्ण और एक रजत पदक अपने नाम किए।
    
ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता निशानेबाज़ अभिनव बिंद्रा और गगन नारंग ने मेज़बान को पहला स्वर्ण दिलाते हुए दस मीटर एयर राइफल पेयर्स में खेलों का नया रिकॉर्ड भी बनाया। भारत की झोली में दूसरा स्वर्ण अनिसा सैयद और सरनोबत राही ने डाला जिन्होंने 25 मीटर महिला पिस्टल पेयर्स में बाजी मारी।
    
वहीं ओंकार सिंह और दीपक शर्मा अप्रत्याशित हीरो साबित हुए जिन्होंने पुरूषों की 50 मीटर पिस्टल पेयर्स में रजत पदक जीता। बिंद्रा और नारंग ने 1193 अंक बनाकर चार साल पहले मेलबर्न में बनाया अपना ही 1189 अंक का रिकॉर्ड तोड़ा। विश्व रिकॉर्डधारी गगन ने 99,100,100,99,100,100 समेत 598 का स्कोर बनाया। वहीं बीजिंग ओलंपिक के स्वर्ण पदक विजेता बिंद्रा ने 100,98,99,100,99,99 समेत 595 अंक बनाए।

इंग्लैंड के जेम्स हकल और केनी पेर (1174) ने रजत पदक जीता जबकि बांग्लादेश के अब्दुल्ला हेल बाकी और मोहम्मद आसिफ हुसैन खान (1173) ने कांस्य पदक हासिल किया। दोनों टीमें हालांकि बिंद्रा और गगन से काफी पीछे रही। पच्चीस मीटर महिला पिस्टल पेयर्स में भारतीय जोड़ी ने 1156 का स्कोर किया जो राष्ट्रमंडल खेलों में रिकॉर्ड है। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया की रियान लिंडा और ललिता वाय का मैनचेस्टर राष्ट्रमंडल खेलों का 1150 अंक का रिकॉर्ड तोड़ा।
     
लिंडा और ललिता को यहां रजत पदक जीता जिनका स्कोर 1146 था। कांस्य पदक इंग्लैंड की जोर्ज जीकी और जूलिया लिडाल की जोड़ी को मिला जिनका स्कोर 1122 रहा।
    
पुरूषों की 50 मीटर पिस्टल पेयर्स में ओंकार और दीपक ने 1087 का स्कोर करके रजत पदक जीता। स्वर्ण पदक सिंगापुर के गेइ बिन और लिम स्वी होन को मिला जिनका स्कोर 1094 था जबकि त्रिनिदाद और टोबैगो के रिचर्ड रोडने एलेन और पीटर डेनियल ने 1081 स्कोर करके कांसे का तमगा जीता।
    
राष्ट्रीय कोच सनी थॉमस ने कहा कि मैंने निशानेबाजों को खेलों से पहले कुछ भी बोलने से मना किया था। लोगों को लगा कि मैं तानाशाह हूं लेकिन मैंने जो भी किया, देश के लिए किया और हमें इसका फल मिला।

उन्होंने कहा कि जीत के खुमार में डूबने की बजाय आने वाली स्पर्धाओं पर ध्यान केंद्रित करना होगा। उन्होंने कहा कि मुझे खुशी है कि हमने स्वर्ण पदक जीते। लेकिन आने वाले मुकाबले और कड़े होंगे जिनमें हमें अधिक मेहनत करनी होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारतीयों ने दो गोल्ड पर लगाया निशाना