DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वेटलिफ्टरों ने खोला भारत का खाता

वेटलिफ्टरों ने खोला भारत का खाता

भारत की स्वर्ण पदक की उम्मीद सुखन डे और सोनिया चानू 19वें राष्ट्रमंडल खेलों के पहले दिन सोमवार को देश को भारोत्तोलन में सोने का तमगा दिलाने से चूक गए और दोनों को ही रजत पदक से संतोष करना पड़ा।

भारत को भारोत्तोलन में दो रजत के साथ दो कांस्य पदक भी हासिल हुए। इस तरह खेलों के पहले दिन भारत को कुल चार पदक हाथ लगे। सुखन डे और सोनिया दोनों को ही स्वर्ण पदक का प्रबल दावेदार माना जा रहा था लेकिन पुरुषों के 56 किलोग्राम वर्ग में इब्राहीम अमीरुल हमीजान और नाइजीरिया की अगस्टीना एनकेम ने महिलाओं के 48 किग्रा वर्ग में स्वर्ण पदक हथिया लिया। वी श्रीनिवास राव को कांस्य पदक और संध्या रानी को भी कांस्य पदक मिला।

राव और सुखन डे दोनों के पास ही स्वर्ण पदक के लिए अपनी दावेदारी करने का मौका था लेकिन दोनों भारोत्तोलक अपने तीसरे प्रयास में 146 किग्रा का वजन उठाने से चूक गए और यहीं पर मलेशियाई भारोत्तोलक ने बाजी मार ली।

पश्चिम बंगाल के सुखन डे ने स्नैच में 112 किग्रा और क्लीन एंड जर्क में 140 किग्रा सहित कुल 252 किग्रा का भार उठाया जबकि आंध्र प्रदेश के श्रीनिवास राव ने स्नैच में 107 और क्लीन एंड जर्क में 141 किग्रा का भार उठाया।

मलेशियाई भारोत्तोलक ने स्नैच में 116 और क्लीन एंड जर्क में 141 किग्रा सहित कुल 257 किग्रा भार उठाकर अपने देश को इन खेलों का पहला स्वर्ण पदक दिला दिया। आर्मी स्पोर्ट्स इंस्टीटूट पुणे के ये दोनों भारोत्तोलक आखिरी समय तक भारतीय उम्मीदों को बनाए हुए थे लेकिन मलेशियाई भारोत्तोलक ने स्नैच में 116 किग्रा वजन उठाकर जो बढ़त बनाई उसका अंततः उन्हें पूरा फायदा मिला।

क्लीन एंड जर्क में मुकाबला बराबरी का था जहां हमीजान तीसरे प्रयास में 141 किग्रा वजन उठाने में कामयाब रहे वहीं सुखन डे ने दूसरे प्रयास में 140 और राव ने भी दूसरे प्रयास में 141 किग्रा वजन उठाया। दोनों भारोत्तोलकों ने तीसरे प्रयास में 146 किग्रा वजन उठाने की कोशिश की मगर कामयाब नहीं हो सके। सुखन डे अपने करियर में इससे पहले क्लीन एंड जर्क में 145 किग्रा वजन उठा चुके थे मगर अंतिम प्रयास में वजन को उठाने के बाद संभाल नहीं पाए।

इससे पहले महिलाओं के 48 किग्रा वर्ग में सोनिया के पास भी स्वर्ण पदक जीतने का मौका था लेकिन क्लीन एंड जर्क में वह अपने दूसरे और तीसरे प्रयास में 103 किग्रा वजन ही उठा सकीं और उन्हें कुल 167 किग्रा के साथ रजत पदक से संतोष करना पड़ा।

नाइजीरिया की अगस्टीना एनकेम ने स्नैच, क्लीन एंड जर्क और कुल तीनों में नए राष्ट्रमंडल खेल रिकार्ड बनाते हुए स्वर्ण पदक जीत लिया। उन्होंने कुल 175 किग्रा भार उठाया। अगस्टीना ने इस स्पर्धा में कुल पांच राष्ट्रमंडल रिकार्ड बनाए।

भारत की संध्या रानी कुल 165 किलोग्राम वजन उठाकर कांस्य पदक पाने में सफल रही। सोनिया और संध्या को इस वजन वर्ग में स्वर्ण और रजत पदक जीतने का प्रबल दावेदार माना जा रहा था लेकिन नाइजीरिया भारोत्तोलक भारतीय उम्मीदों पर तुषारापात करते हुए स्वर्ण पदक ले उड़ी। सोनिया को स्नैच में 73 किग्रा वजन उठाने का अंततः नुकसान उठाना पड़ा।

अगस्टीना ने स्नैच में 77 किग्रा वजन उठाकर जो बढत बनाई उसका अंततः उन्हें कुल स्कोर में फायदा हुआ। सोनिया ने स्नैच में अपने पहले प्रयास में 73 किग्रा वजन उठाया लेकिन अपने अगले दो प्रयास में वह 76 किग्रा वजन उठाने में नाकाम रहीं।

अगस्टीना ने 73 किग्रा वजन उठाने के साथ शुरुआत की और उसे 76 और 77 पहुंचा दिया। संध्या ने स्नैच में 70 किग्रा वजन उठाया, क्लीन एंड जर्क में अगस्टीना ने 94 किग्रा और 98 किग्रा वजन उठाए लेकिन अपने तीसरे प्रयास में वह 100 किग्रा वजन उठाने में नाकाम रहीं।

सोनिया ने क्लीन एंड जर्क में अपने पहले प्रयास में 94 किग्रा वजन उठाया लेकिन अगस्टीना के दूसरे प्रयास में 98 किग्रा वजन उठाने के बाद उन्हें अपने दूसरे प्रयास में 103 किग्रा वजन उठाने की जरूरत थी लेकिन वह दूसरे और तीसरे प्रयास में ऐसा करने में नाकाम रहीं।

संध्या रानी ने क्लीन एंड जर्क में 90 और 95 किग्रा वजन उठाए लेकिन 97 किग्रा के लिए उनका तीसरा प्रयास नाकाम रहा। संध्या और मलेशिया की जारिया जकारिया ने एक बराबर कुल 165 किग्रा वजन उठाया लेकिन शरीर के कम वजन के कारण संध्या को कांस्य पदक मिल गया जबकि जकारिया को चौथे स्थान से संतोष करना पड़ा।

संध्या ने क्लीन एंड जर्क में अपने दूसरे प्रयास में 95 किग्रा वजन उठाकर नया कामनवेल्थ रिकार्ड बनाया जिसे अगस्टीना ने फिर 98 किग्रा वजन उठाकर तोड दिया। अगस्टीना ने स्नैच में 77, क्लीन एंड जर्क में 98 और कुल 175 किग्रा वजन उठाकर तीन नए कामनवेल्थ रिकार्ड बनाए। 167 किग्रा का कुल वजन उठाने का पिछला रिकार्ड भारत की कुंजुरानी देवी के नाम था जिसकी सोनिया चानू ने बराबरी की लेकिन अगस्टीना ने इसे तोड़ दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वेटलिफ्टरों ने खोला भारत का खाता