DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डिस्पेंसरी ध्वस्त करने पहुंचे पेलोडर पर पत्थरबाजी

बस्ताकोला कोलियरी के बंद डिस्पेंसरी पर कब्जा जमाने को लेकर जन शक्ति कोयला मजदूर संघ सह लोजपा समर्थकों और प्रबंधन के बीच रविवार को तनाव बना रहा। एक तरफ लोजपा समर्थक उक्त डिस्पेंसरी में अपना कार्यालय खोलने की घोषणा कर रहे थे वहीं कोलियरी प्रबंधन डिस्पेंसरी को भूंधसान क्षेत्र में होने की बात कहकर भवन को ध्वस्त करने की तैयारी में था। इसके लिए डोजर मंगा लिया गया। डोजर के पहुंचते ही समीप के बस्ती के लोगों ने मोर्चा संभाल लिया। पत्थरबाजी शुरू हुई।

ऑपरेटर डोजर लेकर भाग खड़ा हुआ। खबर पाकर बस्ताकोला टीओपी और सीआइएसएफ के जवान पहुंच गए। पुलिस के पहुंचते ही स्थिति सामान्य हुई। लेकिन पड़ोस के लोग किसी भी कीमत पर डिस्पेंसरी ध्वस्त नहीं करने देने पर अड़े रहे। बाद में प्रबंधन से वार्ता करने की गुहार लोजपा समर्थकों ने लगाई।

पहुंचे अधिकारी के खिलाफ नारेबाजी
भूधंसान प्रभावित क्षेत्र होने के कारण सलाहकार समिति की बैठक में उक्त डिस्पेंसरी को दूसरी जगह शिफ्ट करने और भवन को ध्वस्त करने का निर्णय प्रबंधन ने लिया था। प्रबंधन ने डिस्पेंसरी शिफ्ट कर दिया। लेकिन भवन ध्वस्त नहीं हुआ था। एक सप्ताह पूर्व लोजपा समर्थकों ने उस पर कब्जा जमाकर कार्यालय खोल दिया। जिसके खिलाफ प्रबंधन ने झरिया थाना में मामला भी दर्ज कराया है। मामला दर्ज होने के बाद नेताओं ने प्रबंधन से भी वार्ता के लिए समय मांगा।

इधर रविवार को उक्त भवन में लोजपा समर्थकों ने प्रेस वार्ता आयोजित कर भवन नहीं खाली करने की घोषणा की। इसकी खबर मिलते ही परियोजना पदाधिकारी एसपी शुक्ला, कार्मिक प्रबंधक बीआर शुक्ला पहुंचे। अधिकारियों के पहुंचते ही नारेबाजी शुरू हो गई।

महिला, बच्चे सभी अपने घर से निकलकर बाहर आ गए। तभी पेलोडर पहुंचा। पेलोडर कुछ दूर पर ही था कि पथराव शुरू हो गया। पेलोडर ऑपरेटर वापस हो गया। इसके बाद बस्ताकोला टीओपी के अधिकारी पहुंचे और कहा कि एसपी का निर्देश है सभी के खिलाफ मामला दर्ज होगा। इतना सुनते ही सभी नेता धीरे-धीरे खिसक गए। लेकिन महिलाएं डटी रहीं। जिसके चलते भवन ध्वस्त करने का काम नहीं हो पाया।

सीजीएम ने विरोध करने वाले पर एफआइआर करने का निर्देश दिया
पेलोडर पर पथराव की घटना के बाद क्षेत्र के मुख्य महाप्रबंधक आरयू पांडेय पहुंचे। उन्होंने कोलियरी प्रबंधन का विरोध करने वालों के खिलाफ एफआइआर करने को कहा। तथा कहा कि हर हाल में भवन को ध्वस्त कर दिया जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:डिस्पेंसरी ध्वस्त करने पहुंचे पेलोडर पर पत्थरबाजी