DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांग्रेस ने टाला शांति मार्च, बिहार चुनाव का दिया हवाला

प्रदेश कांग्रेस पार्टी ने नक्सली इलाकों में अपने शांति मार्च को टाल दिया है। पार्टी द्वारा मार्च टालने का कारण दिल्ली में राष्ट्रमंडल खेल और बिहार चुनाव बाताया जा रहा है। पर चर्चा यह है कि नक्सलियों के निशाने पर कांग्रेसी सबसे अधिक होने के कारण वह शांति मार्च से घबरा रहे हैं।

गौरतलब है कि गत महीने झारखंड प्रदेश कांग्रेस पार्टी ने 2 अक्टूबर से नक्सली इलाकों में शांति मार्च निकालने की घोषणा की थी। पार्टी ने अब 15 नवंबर से शांति मार्च निकालने की घोषणा है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव व प्रवक्ता डॉ. शैलेश सिन्हा ने कहा कि पार्टी द्वारा राज्य के चुनिंदा जिलों में गांधी जयंती के दिन 2 अक्टूबर से शांति यात्रा प्रारंभ होने वाली थी। अब इस तिथि को आगे बढ़ाकर झारखंड स्थापना दिवस व भगवान बिरसा मुंडा की जयंती के अवसर पर आगामी 15 नवंबर से करने का फैसला लिया गया है।

कांग्रेस प्रवक्ता ने शांति मार्च की तिथि बढ़ाने पर सफाई देते हुए कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रदीप कुमार बलमुचू के निर्देश पर शांति यात्रा की तैयारी लगभग पूरी कर ली गई थी। जिन क्षेत्रों से शांति यात्रा निकाली जानी थी, इनसे संबंधित क्षेत्रों का रोडमैप तैयार कर लिया गया था। उन्होंने कहा कि बिहार चुनाव में झारखंड के नेताओं और कार्यकर्ताओं को प्रचार में जाना है। कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता जिन्हें इस मार्च में शामिल होना था, वह दिल्ली में राष्ट्रमंडल खेलों में व्यस्त हैं। लिहाजा शांति मार्च की तिथि को बदलना पड़ा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कांग्रेस ने टाला शांति मार्च, बिहार चुनाव का दिया हवाला