DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छह घंटे नहीं चलीं सिटी बसें, यात्री परेशान

राजधानी में शनिवार को छह घंटे तक सिटी बसें नहीं चली। सिटी बस के चालकों व कर्मियों ने अचानक हड़ताल पर जाने की ठान ली। सुबह आठ बजे सिटी बस के भी कर्मी   स्टेशन रोड स्थित बस डिपो में जमा हुए। इसके पश्चात अपनी तीन सूत्री मांगों के समर्थन में हंगामा शुरू कर दिया। आस्क सिक्युरिटी एजेंसी नामक कंपनी के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। इनका कहना था कि जब तक मांगें पूरी नहीं होगी तब तक हड़ताल पर रहने की चेतावनी दे रहे थे। यह सिलसिला दोपहर डेढ़ बजे तक चला। छह घंटे इंतजार के बाद डिप्टी मेयर अजयनाथ शाहदेव वहां पहुंचे। उन्होंने कंपनी के संचालक धनंजय कुमार एवं बस कर्मियों के साथ वार्ता की। चालकों ने उन्हें अपनी तीन सूत्री मांगों को अवगत कराया। वार्ता के क्रम में कंपनी के संचालक ने चालकों को आश्वासन दिया है कि वह एक माह के भीतर मांगें पूरी कर ली जाएगी। आश्वासन मिलने के बाद दोपहर दो बजे कर्मियों ने हड़ताल तोड़ा और फिर से सड़कों पर बसें दौड़ने लगी।
क्या है मांगें
 सभी कर्मियों को नियुक्ति पत्र दिया जाए
 बस में चलने वाले ड्राइवर, खलासी व कंडक्टर को पहचान पत्र दिया जाए
 पीएफ व इएसआइ भुगतान का कागजात उपलब्ध कराया जाए

क्या कहते हैं कंपनी संचालक
मांगों के समर्थन में चालक हड़ताल पर न जाकर जनता के बारे में सोंचे। छह घंटे तक बसें नहीं चलने से तकरीबन 50000 का सेल मार खाया, साथ ही जनता को परेशानी भी ङोलनी पड़ी। इसलिए हड़ताल नहीं कर भी कंपनी के समक्ष मांगें रख सकते हैं। धनंजय कुमार, संचालक, आस्क सिक्युरिटी एजेंसी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:छह घंटे नहीं चलीं सिटी बसें, यात्री परेशान