अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीपीआरओ को पुलिस कमिश्नर ने दी क्लीन चिट

 

पुलिस आयुक्त सुरजीत सिंह देशवाल ने कहा कि हरियाणा पुलिस द्वारा गुडम्गांव के जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी रणबीर सिंह की सेवाएं राष्ट्रमण्डल खेलों के दौरान कादरपुर सीआरपीएफ शूटिंग रेंज में सुरक्षा बनाए रखने के लिए ली जा रही हैं। रणबीर सिंह हरियाणा सरकार के एक जिम्मेदार अधिकारी हैं। इस दौरान पुलिस किसी अधिकारी को भी वहां तैनात कर सकती है। सुरक्षा की दृष्टि से उनकी सारी जांच पडम्ताल की जा चुकी है।
पुलिस कमिश्नर की यह सफाई मीडिया में जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी रणबीर सिंह को कॉमनवेल्थ गेम्स आयोजन समिति द्वारा डिप्टी वेन्यू सिक्युरिटी कमांडर बताते हुए एक्रिडेशन कार्ड बनाए जाने पर उठे विवाद पर आई है। जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी सिंह का कहना है कि उन्होंने अपने आवेदन में कोई गलती नहीं की थी। उधर, पुलिस के डीसीपी हेडक्वार्टर कुलविंद्र सिंह ने कहा कि उन्होंने गुडम्गांव से चार सौ लोगों के नाम एक्रिडेटन कार्ड बनाने के लिए भेजे थे। राष्ट्रमंडल खेल आयोजन समिति ने सिर्फ 43 लोगों के कार्ड बना कर अब तक भेजे हैं। उन्होंने कहा कि प्रशासनिक अधिकारियों के नाम वीआईपी श्रेणी में भेजे गए थे। हमने डीपीआरआे को अनुशंसा सूची में डीपीआरआे ही लिखा था। यह आयोजन समिति की गडम्बडम्ी है कि उन्होंने डिप्टी वेन्यु सिक्योरिटी कमांडर हरियाणा पुलिस का कार्ड बना दिया। उन्होंने कहा कि यह मानवीय भूल हो सकती है।
गौरतलब है कि कॉमनवेल्थ गेम्स को लेकर कडम्ी सुरक्षा बरती जा रही है। कई दिग्गज नेताओं और राजदूतों को पैदल दिल्ली के स्टेडियमों में जाना पडम् रहा है। ऐसे में इस तरह के कार्ड बनने से आशंका जताई जा रही है कि कही और इस तहर के कार्ड तो नहीं बने हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:डीपीआरओ को पुलिस कमिश्नर ने दी क्लीन चिट