DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत व अफ्रीका को मिलकर काम करने की जरूरत

प्रवासी भारतीय मामलों के मंत्री वायलार रवि ने कहा है कि भारत और अफ्रीका को नयी वैश्विक व्यवस्था में मिल कर काम करने की आवश्यकता है तथा बदलते आर्थिक परिदृश्य में भारत को आर्थिक अवसरों वाले देश के रूप में देखा जाना चाहिए।

रवि ने यहां कहा कि भारतीय मूल के अफ्रीकी लोगों का अपने मूल देश से अब तक सामाजिक एवं सांस्कृतिक जुड़ाव रहा है। बदलते आर्थिक परिदृश्य में उन्हें भारत को आर्थिक अवसरों वाले देश के रूप में देखना चाहिए। महात्मा गांधी की जयंती के मौके पर आयोजित पहले अफ्रीकी प्रवासी भारतीय दिवस के दौरान रवि भारतीय मूल के 400 लोगों को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि भारत के लिए अफ्रीका महादेश का क्षेत्रीय और वैश्विक दोनों स्तर पर काफी महत्व है। एक दूसरे को सिद्धांतों के आधार पर समर्थन देने की हमारी मतबूत परंपरा रही है। रवि ने कहा कि प्रवासी भारतीय समुदाय को उनके कार्यों, अनुशासन, पूरी दुनिया में स्थानीय समुदाय के साथ सफलतापूर्वक घुल मिल जाने आदि के लिए पहचान मिल रही है और उन्हें सम्मान की नजर से देखा जा रहा है।

भारतीय मूल के अफ्रीकी नागरिकों की सराहना करते हुए रवि ने कहा कि हमें यह देखकर खुशी है कि वे अफ्रीका के विभिन्न देशों में राष्ट्रनिर्माण, आर्थिक विकास, व्यापार एवं कारोबार में महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं। मुझे उम्मीद है कि उनके योगदान में वृद्धि होगी और इससे अफ्रीकी अर्थव्यवस्थाओं का व्यापक विकास होगा। अफ्रीका महादेश के भूमंडलीकरण की ओर बढ़ते कदम का जिक्र करते हुए रवि ने कहा कि पूरे महादेश में भविष्य के प्रति नयी उम्मीद दिख रही है जो व्यापक संभावनाओं से भरी हुई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारत व अफ्रीका को मिलकर काम करने की जरूरत