DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

14 वर्ष पुराने हत्याकांड में चार अभियुक्तों को आजीवन कारावास

  उत्तर प्रदेश के गोण्डा जिले में 14 वर्ष पुराने एक हत्याकांड में अदालत ने चार अभियुक्तों को आजीवन कारावास के साथ साथ दस-दस हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई।

अभियोजन पक्ष के अनुसार, कोतवाली नगर में 29 जून 1996 को सुभाष राजपाल ने पुलिस में एक तहरीर दर्ज करायी गयी थी कि उनका 14 वर्षीय पुत्र गगन राजपाल लापता हो गया है। बाद में उसकी रिहाई के लिए फिरौती भी मांगी गयी। पुलिस ने जाल फैला का संतोष कुमार, मोहम्मद अमीन तथा अनिल पाठक को फिरौती वसूलने के प्रयास में मौके पर रंगे हाथों पकड़ा और उनकी निशानदेही पर राजपाल का कंकाल बरामद किया।

पुलिस ने नौ अभियुक्तों के विरुद्ध अपहरण और हत्या तथा साक्ष्य छिपाने का अभियोग पत्र अदालत में दाखिल किया। अपर सत्र न्यायाधीश षष्टम मोहम्मद रईस सिदिदकी ने दोनों पक्षों व गवाहों के बयान के बाद चार अभियुक्तों श्यामजी गुप्ता, नीरज पाठक, पवन कुमार और राजेश्वर सिंह को आजीवन कारावास और दस हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई, जबकि चार अन्य अभियुक्तों संतोष श्रीवास्तव, मोहम्मद अमीन, अनिल कुमार पाठक तथा मिथलेश कुमार शुक्ला को सात सात साल व दस दस हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई गयी। एक अन्य अभियुक्त सौरभ श्रीवास्तव को किशोर अपराधी घोषित कर उसकी पत्रावली किशोर न्यायालय बस्ती भेज दी गयी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:14 वर्ष पुराने हत्याकांड में चार अभियुक्तों को आजीवन कारावास