अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विदेशी एथलीटों को खूब भा रहे हैं मैजिक कप

विदेशी एथलीटों को खूब भा रहे हैं मैजिक कप

राष्ट्रमंडल खेल गांव के अंतरराष्ट्रीय जोन में बने मिनी बाज़ार में विदेशी एथलीटों को मैजिक कप (जादुई कप) बहुत भा रहे हैं और खेल स्पर्धाएं शुरू होने से पहले ही पिछले चार-पांच दिन के अंदर इनका पहला स्टॉक खत्म हो चुका है।
    
इस स्टॉल में 2010 राष्ट्रमंडल खेलों के शुभंकर शेरा के पिंट्र वाले वुवुज़ेला, टीशर्ट, भारतीय झंडे, सिपर, चुंबकीय कोस्टर, घड़ियां और मैजिक कप के अलावा अन्य मर्चेंडाइज़ शामिल हैं।
    
मैजिक कप की मांग इतनी है कि इनका स्टाक खत्म हो चुका है जबकि दूसरे नंबर पर सिपर हैं और तीसरे स्थान पर बिकने वाली चीज़ चुंबकीय कोस्टर का हैं जिन्हें आप इस्तेमाल करने के बाद लोहे के सामान पर सजाने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं। विदेशी एथलीटों को ये सब सामान काफी किफायती दाम पर मिल रहे हैं।
    
स्टॉल की मैनेजर आयशा ने कहा कि मैजिक कप की बहुत डिमांड है। पिछले चार-पांच दिन में इसका पहला स्टॉक खत्म हो गया है, सभी एथलीट इसे काफी पसंद कर रहे हैं। हम इसका स्टॉक मंगा रहे हैं। यह पूछने पर कि इसकी क्या खास बात है तो उन्होंने कहा कि मैजिक कप की खास बात यह है कि इसमें पानी डालने पर वह उसी रंग का हो जाता है।

आयशा ने कहा कि अगर एक भी कप बचा होता तो मैं आपको इसकी खासियत बता सकती थी और इसकी कीमत सिर्फ 150 रूपये है। हमारे पास पहले स्टॉक के रूप में 100 से ज्यादा कप थे। अभी तो राष्ट्रमंडल खेल शुरू भी नहीं हुए हैं, सारे एथलीट भी खेल गांव नहीं पहुंचे हैं और सारे मैजिक कप बिक चुके हैं।
    
उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि यह खेल गांव में बिकने वाला सबसे हिट आइटम होगा।  यह पूछने पर कि इसमें कौन से देशों के एथलीटों की संख्या ज्यादा है तो उन्होंने कहा कि यहां सभी देशों के खिलाड़ी आ रहे हैं, जिसमें मेज़बान देश के खिलाड़ी भी शामिल हैं। वुवुज़ेला भी बिक रहा है, लेकिन इसे दक्षिण अफ्रीका देशों के एथलीट ज्यादा पंसद कर रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विदेशी एथलीटों को खूब भा रहे हैं मैजिक कप