DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

म्यांमार चुनावों के बाद रिहा होंगी सूकी: अधिकारी

म्यांमार चुनावों के बाद रिहा होंगी सूकी: अधिकारी

सैन्य शासित म्यांमार के अधिकारियों का कहना है कि लोकतंत्र की प्रतीक आन सांग सूकी को देश में दो दशकों में पहली बार होने जा रहे चुनावों के बाद नवंबर में रिहा किया जाएगा।

नोबेल शांति पुरस्कार विजेता सूकी वर्ष 1990 में देश में संपन्न अंतिम चुनाव जीतने के बाद से ही नजरबंद हैं। अज्ञात सूत्रों ने बताया कि सूकी की नजरबंदी की अवधि 13 नवंबर को समाप्त हो रही है और उसी दौरान उन्हें रिहा किया जाएगा। म्यांमार में सात नवंबर को चुनाव हैं।

एक अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि नवंबर का महीना हमारे लिए महत्वपूर्ण और व्यस्तता भरा होगा क्योंकि उसी माह चुनाव हैं और सूकी भी रिहा की जाएंगी। म्यांमार के एक अन्य अधिकारी ने भी नाम न जाहिर करने के अनुरोध पर तारीख की पुष्टि करते हुए कहा कानून के अनुसार, उन्हें उसी दिन रिहा कर दिया जाएगा।

न तो सूकी और न ही उनकी पार्टी नेशनल लीग फॉर डेमोक्रेसी चुनावों में भाग लेंगी। इन चुनावों को विपक्ष ने खारिज करते हुए कहा है कि इसका उद्देश्य असैन्य मुखौटे के पीछे सैन्य ताकत को छिपाना है।

बहरहाल, इस बारे में अभी अनिश्चितता बरकरार है कि सैन्य शासन 65 वर्षीय सूकी को रिहा करेगा। पिछले चुनाव में सैन्य शासन की करारी हार हुई थी। उसके बाद से ही उसने सूकी को लगभग लगातार नजरबंद कर रखा है।

थाईलैंड के विश्लेषक आंग नैंग उ ने कहा कि सूकी की रिहाई सशर्त होगी और वह कहीं बाहर नहीं जा सकेंगी। उन्होंने कहा कि अगर सैन्य सरकार नहीं चाहेगी तो सूकी को रिहा नहीं किया जाएगा। मुझे उनकी रिहाई का विश्वास तब होगा जब मैं उन्हें देख लूंगा।

सूकी की वर्तमान हिरासत अवधि गत मई में समाप्त होने वाली थी लेकिन इससे कुछ ही दिन पहले एक विचित्र घटना हो गई। एक अमेरिकी नागरिक उनके मकान के समीप झील में तैरते हुए उनके पास पहुंच गया और एक बार फिर सूकी की हिरासत अवधि बढ़ा दी गई।

शुरू में उन्हें तीन साल सश्रम कारावास की सजा सुनाई गई। बाद में सैन्य शासक थान श्वे ने उनकी हिरासत अवधि घटाकर डेढ़ साल कर दी और वह अगस्त 2009 में अपने पारिवारिक घर लौट आईं।

सूकी के वकील न्यान विन ने कहा कि हिरासत अवधि 14 मई से शुरू हुई थी और प्रशासन को चाहिए कि उन्हें नवंबर में रिहा कर दे क्योंकि ऐसा कोई कानून नहीं है जिसके आधार पर उनकी नजरबंदी की अवधि बढ़ाई जा सके।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:म्यांमार चुनावों के बाद रिहा होंगी सूकी: अधिकारी