DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नाटो हमले में वरिष्ठ अलकायदा कमांडर ढ़ेर, पुष्टि

नाटो हमले में वरिष्ठ अलकायदा कमांडर ढ़ेर, पुष्टि

पूर्वी अफगानिस्तान में नाटो के एक हवाई हमले में अलकायदा का एक वरिष्ठ कमांडर मारा गया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। इस बीच पाकिस्तान इन खबरों की जांच कर रहा है कि सीआईए के एक ड्रोन हमले में अलकायदा में तीसरे नंबर की हैसियत रखने वाले एक कमांडर की मौत हो गई।

वाशिंगटन में आतंकवाद निरोधक अभियान से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि बुधवार को हुआ यह हमला आतंकवादी नेटवर्क के लिए एक झटका हो सकता है।

गौरतलब है कि अमेरिका ने यूरोप में आतंकवादी हमले की साजिश नाकाम करने के प्रयासों के तहत पाकिस्तान के अशांत कबायली इलाके में ड्रोन हमले तेज कर दिए हैं।
यूरोपीय अधिकारियों के अनुसार, अभी यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि ड्रोन हमलों का संबंध क्या ब्रिटेन, फ्रांस और जर्मनी के खिलाफ आतंकवादी हमलों की साजिश से है। इस साजिश के बारे में अधिकारियों को आतंकवादियों की पकड़ी गई बातचीत से पता चला।

नाटो का कहना है कि पूर्वी अफगानिस्तान में हवाई हमले में अलकायदा के वरिष्ठ कमांडर अब्दुल्ला उमर अल कुरैशी सहित कई उग्रवादी मारे गए। कुरैशी सउदी अरब मूल का था और कुनार तथा नूरिस्तान प्रांत में सक्रिय अरब लड़ाकों की मदद करता था।

इस बीच, पाकिस्तानी सुरक्षा अधिकारियों ने बताया कि वह उन खबरों की जांच कर रहे हैं कि सीआईए के ड्रोन हमले में शेख फतह अल मसरी मारा गया। वह सीमा के समीप कबायली हिस्से में जा रहा था।

समझा जाता है कि अल मसरी को अलकायदा में तीसरे नंबर के कमांडर का दर्जा प्राप्त था। उसने मई में एक मिसाइल हमले में मारे गए मुस्तफा अल याजिद का स्थान लिया था।

एक अनुमान के अनुसार, अमेरिका ने पिछले माह की तुलना में पश्चिमोत्तर प्रांत में इस माह अपने ड्रोन हमलों की संख्या लगभग दोगुनी कर दी। इस माह अमेरिका ने पश्चिमोत्तर प्रांत में 21 ड्रोन हमले किए गए हैं। एक अधिकारी ने बताया कि कुछ हमले यूरोप में हमलों के लिए कथित तौर पर रची जा रही साजिश को नाकाम करने के लिए किए गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नाटो हमले में वरिष्ठ अलकायदा कमांडर ढ़ेर, पुष्टि