DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छोटे मुद्दों पर हड़ताल से बचें वकील

उच्च न्यायालय की लखनऊ पीठ के न्यायमूर्ति केके मिश्रा ने वकीलों का आह्वान करते हुए कहाकि वह छोटे-छोटे मुद्दों पर हड़ताल से बचें। न्यायमूर्ति श्री मिश्र शुक्रवार को सेण्ट्रल बार एसोसिएशनमें आयोित शपथ ग्रहण समारोह में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। समारोह में वरिष्ठ अधिवक्ता व सांसद वीरन्द्र भाटिया ने सांसद निधि से बार को 25 लाख रुपए इस वर्ष तथा 25 लाख रुपए अगले वर्ष देने की घोषणा की।ड्ढr इससे पहले सेण्ट्रल बार की एल्डर कमेटी के चेयरमैन बीसी अग्रवाल ने नवनिर्वाचित अध्यक्ष सरो शुक्ला को शपथ दिलाई। बाद में अध्यक्ष श्री शुक्ल ने महामंत्री मो. इदरीश, वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुधीर कुमार चौधरी, उपाध्यक्ष (मध्य) बृोश सिन्हा व रााीव मिश्रा उर्फ मण्टू, कनिष्ठ उपाध्यक्ष अनुराग त्रिवेदी, संयुक्त अवधेश कुमार सिंह सोमवंशी, बृोश कुमार श्रीवास्तव व नीरा कुमार शर्मा, सम्प्रेक्षकोितेन्द्र कुमार श्रीवास्तव, वरिष्ठ कार्यकारिणी सदस्य सांय गर्ग, अशोक कुमार दुबे, महेन्द्र पाल सिंह, माता प्रसाद पाण्डे, राकेश कुमार शर्मा व विाय प्रताप सिंह, कनिष्ठ सदस्य अनुमेष मिश्र, अरविन्द सिंह, ौय्या लाल मौर्या, शमीमोहाँ, उमंग गुप्ता व विवेक कुमार मिश्रा को शपथ दिलाई।ड्ढr वरिष्ठ अधिवक्ता व सांसद वीरन्द्र भाटिया ने दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 30में किए गए संशोधन की मुखालफत की। अवध बार एसो. के अध्यक्ष राघवेन्द्र सिंह ने कहाकि लंबित मुकदमों केोिम्मेदार अधिवक्ता नहीं बल्कि न्यायाधीशों की कमी सहित तमाम कारण है। पूर्व महाधिवक्ता एस.एम.ए. काामी ने कहाकि पेण्डेन्सी एक गंभीर मसला अवश्य है पर धारा 30में हुआ संशोधन उससे भी गंभीर है।ोनपद न्यायाधीश शिवानंद मिश्र ने नई कार्यकारिणी को बधाई दी। समारोह का संचालन एडवोकेट पद्म कीर्ति ने किया। विधिक सेवा की समीक्षा बैठक आाड्ढr लखनऊ। राय विधिक सेवा प्राधिकरण की त्रमासिक बैठक शनिवार को होगी। बैठक उच्च न्यायालय लखनऊ बेंच के बैठक कक्ष में होगी। इसकी अध्यक्षता उच्च न्यायालय के न्यायमूíत लक्ष्मण गोखले करंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: छोटे मुद्दों पर हड़ताल से बचें वकील