DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सियासी साए में मनेगा गोधरा में गणतंत्र दिवस

गुजरात का गोधरा फिर चर्चा में है। गणतंत्र दिवस और उसके पीछे की सियासत को लेकर। मोदी सरकार ने सरकारी गणतंत्र दिवस समारोह गोधरा में मनाने का निश्चय किया है। गणतंत्र दिवस के लिए गोधरा को चुने जाने पर यह माना जा रहा है कि अगले संसदीय चुनाव को देखते हुए मोदी ने गोधरा को गणतंत्र दिवस समारोह के लिए चुना है लेकिन मकसद गोधरा में राजनीतक तापमान ऊपर ले जाना है। केंद्रीय कपड़ा मंत्री शंकर सिंह वाघेला का वर्तमान संसदीय क्षेत्र कपड़वंज परिसीमन के कारण सुरक्षित सीट होने जा रहा है इसलिए वाघेला गोधरा से भाग्य आजमाएंगे। सार्वजनिक तौर पर भी गाहे-बगाहे वाघेला इस बाबत इशारा करते रहे हैं। लेकिन वाघेला का गोधरा पहुंचना मोदी को रास नहीं आएगा,एसा माना जा रहा है। मोदी एक बार फिर गोधरा में वाघेला को मात देने की कवायद में हैं और वहां गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन इसी कवायद का हिस्सा माना जा रहा है। प्रेक्षकों का कहना है कि मोदी वास्तव में गोधरा में 1ो दोहराना की फिराक में हैं। तब वाघेला इस सीट से हार गए थे और अपनी हार को पचा नहीं पाने के कारण उन्हें भाजपा से अलग होना पड़ा था। तब मोदी भाजपा के संगठन मंत्री हुआ करते थे और उन्होंने वाघेला के लिए हर संभव मुस्किलें पैदा की थीं। कहा जाता है कि में वाघेला की हार की खुशी मोदी ने मिठाइयां बांट कर मनाई थी। सूत्रों का कहना है कि मोदी गोधरा में राजनीतिक मकसद को फिलहाल पीछे रखेंगे और करंगे गणतंत्र दिवस पर विकास की बात।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सियासी साए में मनेगा गोधरा में गणतंत्र दिवस