DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संपत्ति की घोषणा करें जज: केंद्र

विधि मामलों पर संसदीय कमेटी के अध्यक्ष सुदर्शन नचयप्पन के इस बयान के बाद कि सुप्रीम कोर्ट रािस्ट्री को हाईकोर्ट से रिट याचिका वापस ले लेनी चाहिए, अब विधि मंत्री ने भी कहा है कि व्यापक जन भावना को देखते हुए जजों को अपनी संपत्ति की घोषणा करनी चाहिए।ड्ढr उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार दिल्ली में चल रहे जजों के वार्षिक रिट्रीट कार्यक्रम में विधि मंत्री एचआर भारद्वाज जजों को अपने इस विचार से अवगत करवा सकते हैं। सूत्रों ने बताया कि मंत्री ने कहा है कि आरटीआई कानून का दुरुपयोग हो ता है लेकिन जनभावना की मांग को देखते हुए जजों को अपनी संपत्ति का खुलासा करना चाहिए।ड्ढr ड्ढr आखिर नेता भी तो उनके आदेश पर अपनी संपत्ति का खुलासा कर रहे है। उन्होंने कहा कि सांसद तो दो बार यह काम करते हैं। एक बार जब वे चुनाव लड़ते हैं तथा दूसरी बार जब वे संसद में शपथ लेते हैं। कम से कम जजों को यह काम एक बार तो करना चाहिए। विधि मंत्री ने कहा कि वह न्याय पालिका की स्वतंत्रता में पूरा विश्वास रखते हैं लेकिन इसके साथ ही वह यह भी मानते हैं न्याय पालिका के काम काज में पारदर्शिता होनी चाहिए। विधि मंत्री का यह बयान ऐसे समय में आया है जब न्याय पालिका विश्वसनीयता के गंभीर संकट से गुजर रही है। सुप्रीम कोर्ट ने संपत्ति की घोषण करने पर सीआईसी के आदेश को स्वीकार नहीं किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: संपत्ति की घोषणा करें जज: केंद्र