DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीबीएक्स

पीबीएक्स यानी (प्राइवेट ब्रांच एक्सचेंज) तमाम टेलीफोन कनेक्शंस का एक समूह है। उसका उपयोग संस्थानों और कंपनियों में किया जाता है। इसमें टेलीफोन कार्यालय से केवल एक नंबर लिया जाता है और उस नंबर से अपनी सुविधानुसार जितनी जरूरत हो, उतने एक्सटेंशन लगाए जाते हैं। हर एक्सटेंशन का तीन या चार डिजिट का एक नंबर होता है। आमतौर पर एक टेलीफोन लाइन, फोन कंपनी के लोकल ऑफिस से जुड़ी होती है। यह ऑफिस उस लाइन से होने वाली यानी आने और जाने वाली फोन कॉल्स पर नियंत्रण रखता है। यह कनेक्शन लेने वाले उपभोक्ता को वॉयस मेल, कॉल फॉरवर्डिग, और कॉलर आईडी जैसी सुविधाएं देता है। इसके लिए प्रदाता कंपनी, उपभोक्ता से मासिक चार्ज लेती है।
जहां तक किसी कंपनी का सवाल है तो वहां उपयोग में आने वाले कनेक्शंस की संख्या काफी ज्यादा होती है। अगर ये सारे कनेक्शंस अलग-अलग लिए जाते हैं तो किसी भी कंपनी को इतनी सारी लाइन के लिए भारी भुगतान करना पड़ेगा लेकिन अगर पीबीएक्स सिस्टम अपनाया जाता है तो यह खर्च नहीं उठाना पड़ता। इसमें बस कंपनी को एक नंबर दे दिया जाता है बाकी कंपनी अंदर के टेलीफोनों के लिए एक्सटेंशन नंबर दे देती है। इसमें केवल आउटगोइंग कॉल्स के लिए भुगतान करना होता है, कंपनी के अंदर की सभी कॉल मुफ्त रहती हैं।
पीबीएक्स वास्तव में कंपनी के भीतर ही टेलीफोन ऑफिस की तरह काम करता है। यह अलग अलग एक्सटेंशन पर की जाने वाली कॉल्स को मैनेज करता है। आउटगोइंग कॉल करने पर एक एक्सेस नंबर को पहले लगाना पड़ता है, अमेरिका में यह नंबर 9 है। पीबीएक्स इस कॉल को टेलीफोन कंपनी के ऑफिस भेजता है, जहां से यह उस नंबर पर की जाती है, जो आप मिलाते हैं। इसमें भी वे सारी सुविधाएं जैसी, वॉयस मेल, कॉल फॉरवर्डिग, और कॉलर आईडी आदि होती हैं। यह किसी कंपनी पर निर्भर करता है कि आप किस सेवा का इस्तेमाल करना चाहते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पीबीएक्स