DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पेस-भूपति की जीत ने भारत की उम्मीद जीवंत रखी

पेस-भूपति की जीत ने भारत की उम्मीद जीवंत रखी

लिएंडर पेस और महेश भूपति की डेविस कप में शनिवार को यहां रिकार्ड 24वीं जीत के दम पर भारत ने ब्राजील के खिलाफ विश्व ग्रुप प्ले आफ मुकाबले का परिणाम 1-2 पर लाकर अपनी उम्मीदें जीवंत रखी। इंडियन एक्सप्रेस को ब्राजीली जोड़ी मार्सेलो मेलो और ब्रूनो सोरेस से शुरू में कुछ कड़ी चुनौती मिली लेकिन आखिर में उन्होंने दो घंटे 19 मिनट तक चले युगल मुकाबले में 6-4, 7-6, 6-1 से जीत दर्ज की।

भारतीय जोड़ी चार सेट प्वाइंट बचाकर इसे टाई ब्रेक में ले गयी। उन्होंने यह सेट अपने नाम करने के बाद तीसरे सेट में जीत दर्ज करने में किसी तरह की परेशानी नहीं हुई। डेविस कप में 20 साल पूरे करने वाले पेस की सर्विस पर भारत ने मैच जीता।

भारत ने पहले दोनों एकल मैच गंवा दिए थे। रोहन बोपन्ना और सोमदेव देववर्मन दोनों ही पांच सेट तक चले मुकाबलों में हार गए थे। विश्व ग्रुप में पहुंचने के लिये बोपन्ना और सोमदेव को रविवार को उलट एकल में हर हाल में जीत दर्ज करनी होगी।

भारत पिछले साल दक्षिण अफ्रीका को हराकर 11 साल बाद विश्व ग्रुप में पहुंचा था लेकिन उसके पहले दौर में वह रूस से हार गया और इस तरह से उसे अब प्लेआफ में खेलना पड़ रहा है।

ब्राजील 2003 के बाद विश्व ग्रुप में नहीं पहुंचा है। वह पिछले कुछ प्रयासों में प्ले आफ से आगे बढ़ने में असफल रहा है। एटीपी सर्किट में एक साथ नहीं खेलने के बावजूद पेस और भूपति ने शनिवार को बेहतरीन तालमेल का नजारा पेश किया। ब्राजीली जोड़ी ने शुरू में धीमी शुएआत की लेकिन उन्होंने जल्द ही लय हासिल कर ली और फिर भारतीयों को कड़ी चुनौती दी।

पेस और भूपति 1996 से डेविस कप के युगल में कभी नहीं हारे हैं। तब वह विश्व ग्रुप के क्वार्टर फाइनल में स्वीडन के योनस ब्योर्कमैन और निकलस कुल्टी से हार गए थे। भारतीय जोड़ी ने पहले गेम में ही ब्राजीली जोड़ी की सर्विस तोड़कर शुरुआत की और जल्द ही दो ब्रेक से 4-0 की बढ़त बना ली।

ब्राजीली टीम ने रणनीति बदली तथा मेलो ने भारतीयों के पांवों पर रिटर्न मारने शुरू किए। इससे उन्हें तीन ब्रेक प्वाइंट मिले। भारतीयों ने इनमें से दो तो बचा लिए लेकिन मेलो के बैकहैंड विनर पर ब्राजीली टीम पहली बार सर्विस तोड़ने में सफल रही।

पेस ने नौवें गेम में दो करारे बैकहैंड विनर लगाकर एक और ब्रेक का अवसर बनाया लेकिन मेलो ने तेजतर्रार सर्विस से इस खतरे को टाल दिया। भारतीय जोड़ी ने हालांकि तुरंत ही यह सेट अपने नाम कर दिया।

दूसरे सेट में काफी करीबी मुकाबला देखने को मिला तथा दोनों टीमें पूरी लय में दिखी। भारतीयों को अपने प्रतिद्वंद्वियों से अच्छी चुनौती मिली। छह फुट आठ इंच लंबे मेलो फिर से पेस के जूतों पर रिटर्न मारकर अंक जुटाने में सफल रहे। भारत के इस अनुभवी खिलाड़ी ने हालांकि 12वें गेम में भूपति की सर्विस पर अधिक सेट प्वाइंट गचाये और यह सेट टाईब्रेकर तक खींचा।

ब्राजीली टीम ने टाईब्रेकर में 4-1 की बढ़त हासिल की लेकिन इंडियन एक्सप्रेस ने वापसी करके स्कोर 5-5 कर दिया। मेलो की सर्विस पर भूपति तेजतर्रार रिटर्न ब्राजीली संभाल नहीं पाए। इसके बाद दोनों का आपस में छाती टकराना भारतीय टेनिस प्रेमियों को इन दोनों के बीच अच्छे तालमेल की यादें ताजा कर गया। तीसरा सेट पूरी तरह से एकतरफा रहा। सोरेस की दूसरे गेम में ही सर्विस टूट गयी और भारतीयों को इसे जीतने में कोई दिक्कत नहीं हुई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पेस-भूपति की जीत ने भारत की उम्मीद जीवंत रखी