DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पिछले साल पश्चिम बंगाल से 25 सौ लड़कियां हुईं लापता

पश्चिम बंगाल सरकार ने कलकत्ता हाईकोर्ट को बताया है कि वर्ष 2009 में विभिन्न जिलों से करीब 25 सौ नाबालिग लड़कियां लापता हुईं।

मुख्य न्यायाधीश जेएन पटेल और न्यायमूर्ति एके राय की खंडपीठ के समक्ष पेश होते हुए राज्य के महाधिवक्ता बलाय राय ने लापता लड़की की माता की एक याचिका पर यह जानकारी दी। जहुरा बीबी ने अदालत में याचिका दायर कर कहा है कि उनकी नाबालिग बेटी जरीना खातून दक्षिणी 24 परगना जिले के काकद्वीप से 2009 में गायब हो गयी। उन्होंने अपनी बेटी को ढूंढ़े जाने और उसे वापस सौंपे जाने की मांग की है।

खंडपीठ ने कल पुलिस महानिदेशक को निर्देश दिया कि एक अक्टूबर को खातून को उसके समक्ष पेश किया जाए। महाधिवक्ता ने अदालत को बताया कि ज्यादातर नाबालिग लड़कियों को अपहरण कर अन्य राज्यों में भेज दिया जाता है। लड़कियों की तस्करी रोकने के लिए एक व्यापक योजना बनाई गई है।

अदालत ने सरकार से अन्य लापता लड़कियों को भी ढुंढने के लिए आवश्यक कदम उठाने का निर्देश दिया। मामले की अगली सुनवाई 12 नवंबर होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पिछले साल पश्चिम बंगाल से 25 सौ लड़कियां हुईं लापता