DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

थर्ड पार्टी इंश्योरेंस भी होगा महंगा

मौजूदा समय में कहीं से ऐसी खबर नहीं आ रही है जिसमें वित्तीय दृष्टिकोण से लोगों को कुछ फायदा हो। गाड़ी महंगी, इंश्योरेंस महंगा, इसके साथ ही खाने-पीने की चीजें भी महंगी हो रही हैं। इसी बीच ऐसी खबर आ रही है कि जल्द ही थर्ड पार्टी इंश्योरेंस भी महंगा होने वाला है। थर्ड पार्टी इंश्योरेंस मतलब वह इंश्योरेंस जो आपके द्वारा किसी और को नुकसान पहुंचाने के बाद बीमा कंपनी हर्जाना भरती है।

थर्ड पार्टी में बढ़ते क्लेम के चलते हो रहे नुकसान की भरपाई के लिए बीमा कंपनियां इसके प्रीमियम को 75 से 100 प्रतिशत तक बढ़ाने के फिराक में है। इस प्रपोजल को बीमा कंपनियों ने इरडा  को भी भेज दिया है। अगर इस प्रस्ताव को इरडा की मंजूरी मिल जाती है तो बस एक दो माह में थर्ड पार्टी इंश्योरेंस भी महंगा हो जाएगा। 

इरडा को प्रपोजल देने से पहले कंपनियां पहले ही ट्रांसपोर्टर्स से भी इसके लिए बात कर चुकी हैं। हालांकि बीमा नियामक के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार इस बात की पुष्टि तो हुई कि कंपनियां अपने प्रीमियम को बढ़ाने के मूड मे हैं लेकिन उनके मुताबिक अभी तक कोई औपचारिक प्रस्ताव इसके लिए इरडा के पास नहीं आया है। 

उनके मुताबिक बीमा कंपनियां सिर्फ प्रीमियम में ही बढ़ोतरी नहीं चाहती हैं बल्कि वे इसके साथ थर्ड पार्टी सेटलमेंट के तरीकों में भी बदलाव की इच्छुक हैं। अभी मोटर वेहिकल एक्ट के मुताबिक बीमा कंपनियो को पांच लाख तक का कवर थर्ड पार्टी का कवर निर्धारित प्रीमियम पर ही देना पड़ता है। अगर कोई इससे अधिक का कवर चाहता है तो उसे टॉपअप कवर मार्केट के प्रीमियम के अनुसार लेना होगा।

इसके साथ एक और सुझाव जो आया है उसमें किसी एक्सीडेंट के बाद दोनों पार्टियों को आपस में समझौता करने की अनुमति होनी चाहिए जिसमें कोई मौत या फिर गंभीर इंजरी न हुई हो। अगर इसके बाद भी बात नहीं बनती तो वे किसी प्रमुख एजेंसी की इसमें मदद ले सकते हैं। आंकड़ों की बात करें तो वर्तमान में बीमा कंपनियों का क्लेम रेसिओ 125 प्रतिशत का है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:थर्ड पार्टी इंश्योरेंस भी होगा महंगा