DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फ्लिंटॉफ ने छोड़ा है इंग्लिश क्रिकेट पर ज़बर्दस्त असर : स्ट्रॉस

फ्लिंटॉफ ने छोड़ा है इंग्लिश क्रिकेट पर ज़बर्दस्त असर : स्ट्रॉस

इंगलैंड के कप्तान एंड्रयू स्ट्रॉस ने चोट से उबरने में नाकाम रहने पर सभी तरह की क्रिकेट को अलविदा कह देने वाले हरफनमौला एंड्रयू फ्लिंटॉफ की जमकर तारीफ करते हुए कहा है कि इस धाकड़ खिलाड़ी ने इंग्लिश क्रिकेट पर ज़बर्दस्त असर छोड़ा है।
 
स्ट्रॉस ने फ्लिंटॉफ के संन्यास की खबर मिलने पर उनके करियर के असमय ही समाप्त होने पर दुख जताने के साथ ही कहा कि वह बल्ले और गेंद दोनों से ही असर डालने वाले खिलाड़ी रहे हैं। 'फ्रेडी' के उपनाम से मशहूर फ्लिंटॉफ ने घुटने की चोट से पूरी तरह उबरने की संभावना समाप्त हो जाने के बाद गुरुवार को सभी तरह की क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा की थी।
 
स्ट्रॉस ने समाचारपत्र 'डेली एक्सप्रेस' से कहा  कि यह जानकर बड़ा दुख हुआ कि फ्लिंटॉफ जैसा खिलाड़ी अब चोट के कारण मैदान पर फिर नहीं खेल सकेगा। मगर इस अवसर पर मैं पूरी टीम की तरफ से उनकी उपलब्धियों के लिए उनका सम्मान भी करना चाहता हूं। वह इंग्लिश क्रिकेट पर ज़बर्दस्त असर छोड़ने में सफल रहे हैं।
 
फ्लिंटॉफ के चोट प्रभावित करियर के अंतिम दिनों में उनके कप्तान रहे स्ट्रॉस ने कहा कि मैं फ्रेडी के बारे में याद रखने वाली सबसे अहम चीज़ यह है कि वह गेंद और बल्ले से करामात दिखाने की क्षमता रखते थे। वह कई मौकों पर केवल अपने बलबूते मैच का नक्शा पलटने में सफल रहे हैं।

स्ट्रॉस ने कहा कि फ्लिंटॉफ बेजान विकेटों पर भी अपना पूरा दम लगा देते थे जबकि दूसरे गेंदबाज़ उस हालत में संघर्ष करते हुए नज़र आते हैं। अगर आप दुनिया भर के बल्लेबाजों से बात करें तो वे हमेशा यही कहेंगे कि वे फ्लिंटॉफ का सामना करना सबसे कम पसंद करते हैं। उन्होंने अपनी उपलब्धियों से क्रिकेट विशेषज्ञों की जमकर तारीफ बटोरी है और वह वाकई में इसके हकदार हैं।

उन्होंने वर्ष 2005 की एशेज़ सीरीज़ को फ्लिंटॉफ के करियर का स्वर्णिम अध्याय करार देते हुए कहा कि उस सीरीज़ में वह अपने शिखर पर थे। उन्होंने गेंद और बल्ले दोनों से ही करामात कर इंगलैंड को उस सीरीज़ में जीत दिलाई थी। वैसे वह हमेशा ही मैच पर असर छोड़ने वाले खिलाड़ी रहे हैं। साथ ही वह ऐसे खिलाड़ी रहे हैं जिन्होंने अनेक मौकों पर आगे बढ़कर चुनौती स्वीकार की है और उस पर खरे भी उतरे हैं।
 
फ्लिंटॉफ के साथ खेल चुके स्पिनर ग्रीम स्वान ने भी इस कद्दावर खिलाड़ी को इंगलैंड में क्रिकेट की छवि बदलने वाला बताया। स्वान ने कहा कि फ्रेडी को इयान बॉथम की बराबरी पर नहीं रख सकते हैं लेकिन यह भी सच है कि वह पिछले कई वर्षों में इंगलैंड के पहले सेलिब्रिटी खिलाड़ी रहे हैं। उन्होंने सही मायने में इंग्लिश क्रिकेट की छवि ही बदल दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फ्लिंटॉफ ने छोड़ा है इंग्लिश क्रिकेट पर ज़बर्दस्त असर : स्ट्रॉस