DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाखड़ा पर बने बांध के टूटने का खतरा

हल्द्वानी क्षेत्र में हुई झमाझम बारिश से कई मार्ग अवरुद्ध हो गए इससे पर्वतीय मार्गो पर यातायाता प्रभावित रहा। वहीं नगर में भी कई स्थानों पर जलभराव हो गया। कुमाऊं भर में सुबह से दोपहर तक चली बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त रहा। कपकोट में सरयू घाटी के दस गांवों का सम्पर्क कट गया।

रुद्रपुर। नदी-नाले एक बार फिर उफान पर हैं। मुख्य बाजार, काशीपुर बाइपास, गांधी पार्क के पास सड़क तलैया बन गई। मुख्य बाजार में तो गंदा पानी दुकानों में घुस गया। रोडवेज बस अड्डा भी पूरी जरह जलमग्न हो गया। बारिश के चलते कल्याणी नदी भी उफान पर पहुंच गयी।

बाजपुर। चकरपुर, पहाड़पुर, राजीव कालोनी इत्यादि में नदी का पानी घुस गया। सैकड़ों एकड़ कृषि भूमि का कटाव हो गया। सैंकड़ों एकड़ खड़ी धान और गन्ने की फसल भी चौपट हो गया।  एसडीएम बाजपुर फिंचाराम चौहान ने तहसीलदार बाजपुर केके सिंह व क्षेत्र के हल्का पटवारियों की स्थिति का जायजा ले रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये हैं।

बेरीनाग। हफ्ते भर पूर्व ही अस्पताल को हस्तान्तरित हुई दीवार गिरने से अस्पताल के नवनिर्मित दो आवासीय भवन खतरे की जद में है। फार्मेसिस्ट डीसी पाण्डे ने अपने आबंटित आवासीय कमरा छोड़ अन्यत्र रहना शुरू कर दिया है। ब्लॉक प्रमुख खुशाल सिंह भण्डारी ने अस्पताल पहुंचकर भूस्खलित दीवार का जायजा लिया तथा इसकी सूचना आरईएस को दी।
 
सितारगंज/शक्तिफार्म। सूखी नदी में आयी बाढ़ शिविर की ओर रुख कर गई। शिविर में कर्मचारियों के घरों, पाकशाला, बैरक, गोदामों, कार्यालय में तीन से पांच फिट तक पानी भर गया। कैदियों को बैरकों से हटाना पड़ा। 35 कर्मचारियों के आवासों में बाढ़ का पानी घुसने से काफी नुकसान हुआ है। खेती को भी भारी नुकसान हुआ है। सुकरंजन, मजूमदार, संध्या राय, निताई हाल्दार, विजय महलदार की कृषि भूमि में पांच फिट तक गड्डे बन गये है। जलपुलिस व गोताखोरों को तैनात किया गया है। सुरेन्द्रनगर, रंजीतनगर में आवागमन के लिए नावों का सहारा लेना पड़ रहा है। एडीएम विजय कौशल, एसडीएम एसएस जंगपांगी, सीओ डा. जगदीश चन्द्र ने शक्तिफार्म के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया। तहसीलदार विवेक प्रकाश, नायब तहसीलदार मोहन सिंह ने सुरेन्द्रनगर के 62 परिवारों को दो हजार प्रति परिवार की सहायता राशि वितरित की। कैलाश व देवहा नदी में भी जलस्तर बढ़ने से ग्राम टुकड़ी, बिचुआ घरों के लोग रात में जागकर रात गुजार रहे हैं। खंकरा पुल के पास डायवजर्न मार्ग के उपर से पानी चल रहा है। सितारगंज हल्द्वानी चोरगलिया मार्ग में यातायात बांधित रहा।

डीडीहाट। डीडीहाट तहसील के घिमालीं गांव में मंगलवार की रात हुई तेज बारिश सें एक मकान ढह गया। घटना में मकान के भीतर सो रहे पांच लोग बालबाल बच गए। मकान के मलबे से सारा सामान दब गया। प्रशासन से मिली जानकारी के अनुसार डीडीहाट तहसील के घिमाली गांव में हरिप्रिया जोशी का मकान मंगलवार की रात हुई तेज बारिश से ढह गया। हरिप्रिया ने बताया कि रात तीन बजे मकान के एक हिस्से के गिरने की आवाज सुन कर उसके पुत्र प्रकाश ने परिवार के सदस्यों को मकान से हटा दिया।

चंपावत। जनपद में विगत दिनों से हो रही बारिश के कारण जिलाधिकारी कार्यालय को जाने वाली सड़क समेत कई  सड़कें कीचड़ में तब्दील हो चुकी हैं। जिला मुख्यालय में खेतीखान तिराहे समेत अन्य स्थानों पर राजमार्ग में पानी व कीचड़ के कारण राहगीरों को आवागमन में परेशानी हुई।

पिथौरागढ। बारिश से चन्द्र भाग में भू धसाव हो गया है। भू धसाव से चार रिहायशी मकानों को खतरा  पैदा हो गया है। ऐंचोली-दाड़िम खोला पैदल मार्ग भी बारिश से टूट गया है। इधर थल-मुनस्यारी, मुवानी-पिथौरागढ़, तवाघाट-पांगला मार्ग बंद रहा।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भाखड़ा पर बने बांध के टूटने का खतरा