DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार में सारण तटबंध बचाने का कार्य फिर शुरू

बिहार के गोपालगंज जिले की गन्डक नदी पर बने सारण तटबंध को बचाने का कार्य गुरूवार को फिर शुरू हो गया। इस कार्य में स्थानीय ग्रामीणों समेत तीन हजार से ज्यादा लोगों को लगाया गया है।

अधिकारिक सूत्रों के अनुसार तटबंध की मरम्मत का कार्य सुबह से पुन: प्रारंभ कर दिया गया। सूत्रों के अनुसार तटबंध का कटाव जारी है परंतु उसमें पिचिंग करने का कार्य किया जा रहा है। इसमें ग्रामीण भी लग गये हैं। गोपालगंज के एक अधिकारी ने बताया कि रात को एहतियात के तौर पर कार्य रोक दिया गया था तथा सभी लोगों को तटबंध खाली करने का निर्देश दिया गया था।

गौरतलब है कि बुधवार की रात को तटबंध मरम्मत का कार्य रोक दिया गया है तथा प्रभावित होने वाले क्षेत्रों में राहत एवं बचाव कार्य प्रारंभ कर दिये गये।

राष्ट्रीय आपदा सुदृढ़ीकरण बल (एनडीआरएफ) की पांच टुकडियां गोपालगंज में तथा दो टुकडियां छपरा और एक टुकड़ी सीवान जिले में मोटरवोट के साथ किसी भी स्थिति से निपटने को तैयार है। प्रभावित होने वाले क्षेत्रों से लोगों को हटाया जा रहा है। उनके लिए कैम्प लगाये गये हैं, जिसमें रहने की सुविधा मुहैया करायी गई है। पशुओं के लिए भी व्यवस्था की गई है। आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा इन क्षेत्रों में 1,500 तम्बू भी भेजे गये हैं।

तटबंध टूटने के बाद प्रभावित होने वाले इलाकों में अलर्ट घोषित कर दिया गया है। तटबंध टूटने की स्थिति में पांच लाख से ज्यादा की आबादी बाढ़ की चपेट में आ सकती है। कटाव स्थल पर अधिकारियों का दल चौबीसों घंटे निगरानी कर रहा है।

इधर, आपदा प्रबंधन विभाग के सचिव व्यास जी ने बताया कि तटबंध टूटने के बाद उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए विभाग मुस्तैद है। किसी भी स्थिति से निपटने के लिए गोपालगंज, सीवान तथा छपरा के जिलाधिकारियों को सतर्क कर दिया गया है।

अधिकारिक सूत्रों के अनुसार तटबंध टूटने के बाद गोपालगंज जिले के सिधवलिया, बरौली और बैकुंठपुर प्रखंड की 10 पंचायतें पूरी तरह पानी में डूब जाएंगी। इन पंचायतों के निचले क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाने का कार्य किया जा रहा है।

इसके अलावा सीवान जिले के गोरियाकोठी, बसंतपुर तथा छपरा जिला के मशरख और बनियापुर प्रखंड में भी स्थिति भयावह हो जायेगी। यहां भी प्रशासन द्वारा प्रचार कर लोगों को सुरक्षित स्थानों पर जाने की सलाह दी जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिहार में सारण तटबंध बचाने का कार्य फिर शुरू