DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जीत के लिए जाति सबसे महत्वपूर्ण: नीतीश

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का मानना है कि बिहार और उत्तर प्रदेश में किसी भी उम्मीदवार की जीत के लिए उसकी जाति सबसे महत्वपूर्ण मानदंड है। हालांकि साथ ही उन्होंने कहा है कि आसन्न बिहार विधानसभा चुनाव में जातीय समीकरण निर्णायक साबित नहीं होगा बल्कि विकास का मुद्दा चुनावी परिणाम तय करेगा।

अपने ब्लॉग पर नीतीश ने लिखा है कि बिहार में चीजें अब बदलने लगी हैं और उनके विचार से आसन्न बिहार विधानसभा चुनाव में जातीय समीकरण निर्णायक साबित नहीं होंगे बल्कि विकास का मुद्दा चुनाव परिणाम तय करेगा। उन्होने लिखा है कि इस बार के चुनाव में यह देखने को मिलेगा कि अधिकांश लोग तंग जातीय नजरिए से उपर उठकर विकासप्रद राजनीति के पक्ष में मतदान करेंगे।

नीतीश ने लिखा है कि इस तरह लोगों का रूझान गत लोकसभा चुनाव से दिखने लगा है क्योंकि उक्त चुनाव में बिहार की 40 लोकसभा सीटों में से 32 पर बिहार में विकास कार्यों की शुरूआत करने वाले प्रदेश की वर्तमान सत्ताधारी राजग की झोली में गई थीं।

अपने ब्लॉग में नीतीश ने लिखा है कि उनका मानना है कि बिहार और उत्तर प्रदेश में किसी भी उम्मीदवार की जाति उसकी जीत के लिए सबसे महत्वपूर्ण मानदंड है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जीत के लिए जाति सबसे महत्वपूर्ण: नीतीश