DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सचिन का रिकार्ड तोड़ सकता हूं: सहवाग

सचिन का रिकार्ड तोड़ सकता हूं: सहवाग

विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने आईसीसी विश्व कप तक अपनी बेहतरीन फार्म बनाए रखने का वादा करते हुए मंगलवार को कहा कि यदि वह पूरे 50 ओवर तक टिके रहते हैं तो सचिन तेंदुलकर के 200 रन का रिकार्ड तोड़ सकते हैं।

सहवाग से जब पूछा गया कि क्या वह मानते हैं कि वह तेंदुलकर का एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 200 रन की सर्वाधिक व्यक्तिगत पारी का रिकार्ड तोड़ सकते हैं तो उन्होंने कहा कि वह रिकार्ड के लिए नहीं खेलते लेकिन रिकार्ड टूटने के लिए ही बनते हैं।

सहवाग ने एक कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं से कहा कि कोई भी बल्लेबाज शुरू से लेकर पूरे 50 ओवर तक खेलता है तो वह सचिन का रिकार्ड तोड़ सकता है, लेकिन मैं कभी रिकार्ड पर ध्यान नहीं देता हूं और मेरा एकमात्र उद्देश्य रन बनाना होता है। मैं टीम की जरूरत के अनुसार रन बनाने और टीम को जीत दिलाने के लिए खेलता हूं।

विश्व कप अगले साल के शुरू में भारत, श्रीलंका और बांग्लादेश में खेला जाएगा और सहवाग को विश्वास है कि भारतीय टीम घरेलू परिस्थितियों का फायदा उठाकर चैंपियन बनने में सफल रहेगी। उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि हम विश्व कप में जरूर जीतेंगे। हम प्रयास कर सकते हैं और हम 100 प्रतिशत से भी अधिक प्रयास करेंगे।

सहवाग ने कहा कि भारत को विश्व कप में घरेलू परिस्थितियों का फायदा मिलेगा। उन्होंने कहा कि हम जानते हैं कि कौन सी पिच कैसी है और उसका मिजाज कैसा है। हम यहां बचपन से खेल रहे हैं और लगातार इनमें खेलते रहे हैं इसलिए हमें इनसे सामंजस्य बिठाने में थोड़ा भी समय नहीं लगेगा।
 
सहवाग से जब पूछा गया कि इंडियन प्रीमियर लीग के कारण विदेशी खिलाड़ी भी भारतीय पिचों से अच्छी तरह वाकिफ हो गए हैं तो उन्होंने कहा कि यह बात सही है कि आईपीएल में विदेशी खिलाड़ी खेल रहे हैं और उन्हें यहां की पिचों की जानकारी है लेकिन एक खिलाड़ी के तौर पर और टीम के तौर पर तालमेल बिठाने में अंतर होता है। किसी भी टीम के लिए भारतीय पिचों से सामंजस्य बिठाना आसान नहीं होगा।

इस विस्फोटक बल्लेबाज ने इससे पहले खेल लेखक सूर्यप्रकाश चतुर्वेदी की किताब हमारे कप्तान - नायडू से धोनी तक का लोकार्पण करते हुए सौरव गांगुली को देश का सर्वश्रेष्ठ कप्तान करार दिया। उन्होंने कहा कि गांगुली देश के सर्वश्रेष्ठ कप्तान थे लेकिन धोनी भी अच्छी कप्तानी कर रहे हैं और मुझे लगता है कि वह (कप्तान के तौर पर सर्वाधिक मैच जीतने) गांगुली का रिकार्ड तोड़ सकते हैं।
 
सहवाग से जब पूछा गया कि वह तेंदुलकर को कप्तान के तौर कैसे आंकते हैं तो उन्होंने कहा कि मैं कभी सचिन की कप्तानी में नहीं खेला लेकिन मैंने उन्हें कप्तानी करते हुए देखा है। वैसे भी आईपीएल थ्री में उन्होंने दिखा दिया है कि वह कितने अच्छे कप्तान हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सचिन का रिकार्ड तोड़ सकता हूं: सहवाग