DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बासेल तीन नियम, लोन के लिए कम होगा धन

बैंक प्रमुखों और विशेषज्ञों ने कहा है कि नये वैश्विक बैंकिंग नियमों से बैंकों के पास कारोबारियों और उपभोक्ताओं की लोन सहायता के लिये कम रकम बचेगी।
  
हालांकि नये नियम लागू करने के लिये 2019 तक का समय है जो पर्याप्त है। उस समय वित्तीय स्थिरता पूरी तरह अमल में आ जाएगी।
  
बासेल तीन नियम के तहत बैंकों को संभावित नुकसान से बचने के लिये पर्याप्त मात्रा में राशि रखनी होगी। साथ ही इससे क्रेडिट उद्योग प्रभावित होगा क्योंकि इसमें क्रेडिट कार्ड, गिरवी तथा अन्य कर्ज के मामले में कड़े नियम की सिफारिश की गयी है।
  
यूरोपीय सेंट्रल बैंक के चेयरमैन जिएन क्लाउडे त्रिचेट ने कहा कि समझौते पर काम करने वाले अग्रणी केंद्रीय बैंकों का मानना है कि नये उपाय वैश्विक पूंजी मानकों को मूल रूप से मजबूत बनाएगा और यह आर्थिक स्थिरता तथा वृद्धि में मद्दगार होगा।
  
उन्होंने इस बारे में अनुमान जताने से मना कर दिया कि नई जरूरतों को पूरा करने के लिये बैंकों को कितनी अतिरिक्त राशि की जरूरत होगी। लेकिन विशेषज्ञों को उम्मीद है कि यह राशि सैकड़ों अरब डॉलर हो सकती है।
  
एसोसिएशन आफ जर्मन पब्लिक सेक्टर बैंक के प्रमुख कार्ल हेइंज बौस ने कहा, नये नियम से बैंकों के लोन देने की क्षमता में उल्लेखनीय रूप से कमी आएगी।
  
आईएमएफ के पूर्व कार्यकारी निदेशक और फिलहाल मैड्रिड स्थित आईएसई बिजनेस स्कूल के डीन जुआन जोस तोरिबियो ने कहा कि नये नियम सुधार को प्रभावित कर सकते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बासेल तीन नियम, लोन के लिए कम होगा धन