अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नोएडा में दो संदिग्ध आतंकी ढेर

गणतंत्र दिवस से एक दिन पहले लश्कर-ए तैयबा के दो संदिग्ध आतंकियों को यूपी एटीएस ने नोएडा में मार गिराया। पुलिस अफसरों का दावा है कि मार गए दोनों संदिग्ध पाकिस्तान के नागरिक हैं। इनमें से एक मुंबई हमलों में गिरफ्तार कसाब केोिले ओकारा का ही रहनेवाला है। एडीाी (कानून-व्यवस्था व अपराध) बृालाल के मुताबिक यूपी एटीएस ने उन्हें करीब 11 किलोमीटर पीछा करने के बाद मार गिराया। मुठोड़ में एटीएस का एक कांस्टेबल विनोद भी घायल हुआ है। इस बीच, पुलिस ने चार लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। दूसरी तरफ विदेश राय मंत्री आनंद शर्मा ने कहा है कि इस मुठोड़ से यह बात और पुख्ता होोाती है कि आतंकी हमलों में पाकिस्तान समर्थित आतंकी संगठनों का हाथ है और यह खतरा बना हुआ है।ड्ढr एडीाी बृालाल ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि इन आतंकवादियों के संगठन, भारत आने के प्रयोजन और सम्भावित स्थानीय सम्पर्को की गहनता से जाँच की जा रही है। उनके मुताबिक मरने से पहले फारुख उर्फ अली अहमद ने बताया कि वह ओकारा, पाकिस्तान का रहने वाला हैोबकि दूसरा सियालकोट का है। पुलिस ने इन लोगों के पास से दो एके-47, पाँच हैंड ग्रेनेड, नौ आरडीएक्स छडें़, 18 हाार नकदी व दो बैग बरामद किए हैं। बैग में कुछ कागाात, पासपोर्ट, डायरी व नक्शे हैं। एटीएस ने आशंकाोताई कि ये लोग गणतंत्र दिवस पर दिल्ली या आसपास के किसी महत्वपूर्ण स्थान को निशाना बना सकते थे। आतंकियों के पास से एक लाल डायरी मिली है,ोिसमें लश्कर से संबंधितोानकारियाँ हैं। डायरी में कुछ पाकिस्तानी मोबाइल नंबर व पश्चिमी यूपी के बीएसएनएल के नंबर हैं। इसके अलावा दिल्ली, नोएडा, गााियाबाद व मेरठ के नक्शे मिले हैं। यूपी एटीएस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने दोनों संदिग्धों के मोबाइल फोनों को सर्विलांस पर ले रखा था। शनिवार आधी रात खबर लगी कि ये लोग गााियाबाद के लालकुआँ से मारुति कार से गुार रहे हैं। एटीएस की एक टीम नेोब उसे रोकना चाहा तो ये लोग फायरिंग करते हुए भाग निकले। एटीएस वाले उनके पीछे लग गए लेकिनोब ये संदिग्ध नोएडा में घुसे तो पुलिस कोोानकारी दी गई। एटीएस और नोएडा पुलिस ने संदिग्धों को सेक्टर-में घेर लिया और दोनों पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। दोनों संदिग्ध गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस ने इन्हें पास के अस्पताल में भर्ती कराया,ोहाँ उन्होंने दम तोड़ दिया। मृतकों के पास मिले पासपोर्ट से इनकी पुष्टि पकिस्तानी नागरिक के रूप में हुई। मृतक फारूक उर्फ अली अहमद पाकिस्तान के ओकाराोिले में रहीमयार खान गाँव और अबू इस्माइल सियालकोट का रहने वाला था। फारूक के पास दिल्ली के उस्मानपुर स्कूल का फर्ाी आईकार्ड भी मिला है,ोिसमें उसका नाम समीर र्दा है।ड्ढr आतंकियों के पास सेोो कार बरामद हुई है, उस पर गााियाबाद निवासी पवन वर्मा के स्कूटर का नंबर लिखा है। पवन बमैहटा का निवासी है। उसने पुलिस को बताया है कि वह कई साल पहले स्कूटर बेच चुका है, मगर कागा ट्रांसफर नहीं हो पाए थे। इस दौरान स्कूटर की कई बार बिक्री हो चुकी है। इस मामले में पुलिस ने पवन समेत चार लोगों अमित, अनुा और कृष्ण को पकड़ा है। स्कूटर इस वक्त दादरी के शकील के पास है। पुलिस अब तक न तो स्कूटर बरामद कर पाई है और न ही शकील को। ड्ढr ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नोएडा में दो संदिग्ध आतंकी ढेर