DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ड्राइवर भी होंगे हाईटेक

शानदार ट्रैक-सूट, टोपी, महंगे स्पोर्ट्स शूज, गले में पहचान पत्र और साथ में होगा मोबाइल फोन। ऐसे होंगे वो हाईटेक ड्राइवर, जो राजधानी में होने जा रहे कॉमनवेल्थ गेम्स में खिलाड़ियों और अधिकारियों की डय़ूटी पर तैनात होंगे। ऐसे ड्रॉइवरों की संख्या तीन हजार से ज्यादा होगी। उल्लेखनीय है कि इन ड्रॉइवरों की भर्ती के लिए दो महीने पहले आवेदन मांगे गए थे। तभी से भर्तियां शुरू हो गई थीं।

पता चला है कि साक्षात्कार में उन युवकों को ज्यादा प्राथमिकता दी गई है जो स्नातक हैं और उनका अंग्रेजी ज्ञान अच्छा है। युवकों की कद-काठी को चयन प्रक्रिया में शामिल किया गया है।

भर्ती किए गए 1700 युवकों को नागलोई में विशेष ट्रेनिंग दी जा चुकी है। 650 युवकों को गुड़गांव भेजा गया है। बाकी युवकों को जल्दी ही ट्रेनिंग दी जाएगी। सुरक्षा एजेंसियों द्वारा हरी झंडी दिए जाने के बाद ही इन युवकों को डय़ूटी पर तैनात किया जाएगा।  सूत्रों ने बताया कि ड्रॉइवरों को 12 हजार रुपए वेतन के साथ नाश्ता, लंच और डिनर की सुविधाएं दी जाएंगी। कॉमनवेल्थ आयोजन समिति द्वारा इन्हें दो-दो ट्रैक सूट और मोबाइल फोन दिया जाएगा। इन्हें अपना मोबाइल रखने की छूट नहीं होगी।

ट्रांसपोर्ट कमेटी से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि ट्रैक-सूट देने का एक ही मकसद है कि हम कोई भेदभाव नहीं रखना चाहते हैं। वे लोग भी हमारे खेल का एक अहम हिस्सा हैं। उन्हें पूरा-पूरा सम्मान मिलना चाहिए। उल्लेखनीय है कि इन ड्रॉइवरों की डय़ूटी टाटा के साथ हुए करार के तहत आने वाली कारों और बसों में लगाई जाएगी। डीटीसी बसों के ड्रॉइवरों की वर्दी के बारे में अभी तय नहीं किया गया है।  

टाटा की गाड़ियों का एक बड़ा काफिला राजधानी पहुंच गया। ये गाड़ियां पुणे से आई हैं। इस गाड़ियों की देखभाल की जिम्मेदारी गुड़गांव की एक कंपनी को दी गई है। कॉमनवेल्थ खेलों में टाटा की करीब दो हजार गाड़ियों का काफिला होगा। इनमें छह हाईटेक बसें भी शामिल होंगी। बाकी गाड़ियां जल्दी राजधानी पहुंचने वाली हैं। काफिले में टाटा के टॉप मॉडल हैं। इनमें इंडिगो एक्सएल, सफारी और सूमो प्रमुख हैं। राजधानी में सोमवार को पहुंची गाड़ियों में गेम्स वाली नेम प्लेट लगाने का काम शुरू हो गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ड्राइवर भी होंगे हाईटेक