DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चंद लोगों की करतूत

फ्लोरिडा के पादरी ने 11 सितंबर को कुरान की प्रतियां जलाने का ऐलान कर जितना ध्यान खींचा है, उससे पता चलता है कि हाशिए पर बैठे चंद लोगों के कारनामे किस तरह पूरे समुदाय के बारे में राय बनाते हैं। इससे हमें यह सीख मिलती है कि आज जिस तरह बढ़ता मीडिया उद्योग दुनिया को जोड़ रहा है, उससे उन चंद लोगों पर ध्यान केंद्रित होता है, जो पूरे समुदाय की मुख्यधारा का प्रतिनिधित्व नहीं करते। इसके परिणाम यह होते हैं कि उन लोगों का ध्रुवीकरण तेज हो जाता है, जो नफरत फैलाते हैं। टेरी जोन्स हाशिए पर पड़े हुए एक चर्च के पादरी हैं, जिसमें 50 से ज्यादा सदस्य नहीं जुटते। फिर भी उनकी योजना पर मीडिया ने लगातार इतना शोर मचाया कि पूरी दुनिया यह जान गई कि वे क्या करने जा रहे हैं।
द डान, पाकिस्तान

विज्ञान पर व्यय
व्यापक खर्च समीक्षा के पहले सरकार के जिस व्यय पर सार्वजनिक चर्चा चल पड़ी है, वह है छह अरब पौंड का सालाना विज्ञान बजट। वाणिज्य सचिव विन्स केबल ने इस हफ्ते एक भाषण में यह कहा कि उनका विभाग औसत किस्म के शोध पर व्यय बंद कर देगा, जबकि विज्ञानमंत्री डेविड विलेट्स ने इस बात पर जोर दिया कि विश्वविद्यालयों को सरकार पर अपना बोझ कम करने के लिए ऐसे तरीके निकालने चाहिए जिससे वे अपने शोध के लिए धन इकट्ठा कर सकें। यह तरीका व्यावसायिक विकास का भी हो सकता है। हम सभी इस बात से सहमत हो सकते हैं कि जब अर्थव्यवस्था संकट में है, तो सरकार को महज उच्च श्रेणी के शोध का खर्च उठाना चाहिए। साथ ही यह भी नहीं कहा जा सकता कि ब्रिटेन में जो शोध होते हैं, वे सभी उच्च श्रेणी के ही होते हैं, लेकिन यह घोषणा करना जितना आसान है, उतना उसे लागू कर पाना नहीं है।
द इंडिपेंडेंट, ब्रिटेन

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चंद लोगों की करतूत